WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

krishi input subsidy yojna: किसानो को सरकार दे रही 13500 का अनुदान

जलवायु में बदलाव के कारण गत वर्ष किसानों की फसलों को अत्यधिक नुकसान पहुंचा। जिसके कारण किसानों को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। जिसे गौरतलब करते हुए सरकार की ओर से किसानों को उनकी फसल में हुए घाटे की भरपाई के लिए इनपुट अनुदान ( सहायता) प्रदान करने का इंतजाम किया है। असल में जलवायु के परिवर्तन का असर देशभर में सभी राज्यों की खेती पर पड़ा है और जिससे किसानों की फसलों को अत्यधिक नुकसान पहुंचा है। ऐसे में बिहार सरकार की ओर से राज्य के जिन किसानों की फसलें बेमौसमी घटनाओं के कारण खराब हुई हैं । उन्हें 13,500 रुपए प्रति हैक्टेयर के हिसाब से अनुदान देने की उचित व्यवस्था की है।

Krishi input subsidy yojna
Krishi input subsidy yojna

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि ये अनुदान ग्रामपंचायत की अभिशंसा पर आवंटन किया जाएगा। बिहार सरकार के इस फैसले से राज्य के किसानों को काफी मदद मिलेगी। सरकार की तरफ से किसानों के लिए इनपुट सब्सिडी ( सब्सिडी) देने की योजना सुचारू रूप से संचालित की गई है। इस योजना का फायदा 2021-22 के खरीफ सीजन में बेमौसम से जिन किसानों की फसलों को घाटा हुआ है यानी जिनकी फसलों को अत्यधिक नुकसान पहुंचा है । उन्हें दिया जाएगा।

यह भी देखेंआज का ग्वार भाव यहां क्लिक करें

सभी फसलों की साप्ताहिक तेज़ी मंदी रिपोर्ट यहां क्लिक करें

बिहार गवर्मेंट की कृषि इनपुट अनुदान योजना ( Krishi Input Subsidy Scheme 2023 ) क्या है?

बिहार राज्य सरकार की तरफ से किसानों की फसल को बेमौसम घटनाओं से हुए नुकसान की भरपाई करने के लिए इनपुट अनुदान योजना (Krishi Input Subsidy Scheme) की शुरवात की जा रही है। इनपुट सब्सिडी योजना के माध्यम से राज्य के किसान आवेदन करके अपनी फसल में हुए घाटे पर इनपुट सब्सिडी का फायदा उठा सकते है ।

इसके लिए किसान को सबसे पहले इनपुट योजना में आवेदन /पंजीकरण करना होगा। राज्य सरकार की तरफ से सत्यापित होने के बाद किसान के खाते में डीबीटी( dbt) के माध्यम से सब्सिडी का पैसा भेज दिया जायेगा ।

बिहार सरकार का इनपुट सब्सिडी योजना को शुरू करने का अहम उद्‌देश्य राज्य के किसानों को मौसमी गतिविधियों से फसलों में हुए नुकसान पर मदद प्रदान करना है। इनपुट सब्सिडी योजना के अंतर्गत राज्य के पात्र किसानों को अधिकतम 2 हैक्टेयर तक सब्सिडी ( अनुदान ) दी जायेगी । इसमें सिंचाई वाली जमीन पर राज्य सरकार की तरफ से 13,500 रुपए का अनुदान किसानों को आवंटन किया जाएगा।

ये है कृषि इनपुट अनुदान( सब्सिडी) योजना के लिए पात्रता एवम शर्तें –

कृषि इनपुट अनुदान योजना का लाभ( फायदा) सिर्फ उन्ही किसानों को आवंटन किया जाएगा जो इसकी पात्रता और शर्तों को फॉलो करते हैं ।

इस योजना के लिए पात्रता और शर्तें इस प्रकार से हैं-

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना का लाभ सिर्फ बिहार राज्य के किसान ही ले सकते हैं।

योजना में आवेदन/ पंजीकरण करने वाले किसान का बिहार राज्य में मूल निवास होना जरूरी है।

किसान के पास कम से कम 2 हैक्टेयर कृषि योग्य जमीन होनी आवश्यक है।

सब्डिसी योजना में आवेदन करने वाले किसान का भारत के किसी सरकारी बैंक में खाता होना जरूरी है।

आवेदन कर्ता का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

आवेदन करने वाले के पास स्वयं की कृषि भूमि होने का संबंधित कागजात होने चाहिए।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना में आवेदन के लिए किसानों को कुछ आवश्यक कागजातो की आवश्यकता होगी, ये कागजात निम्न दिए गए है ।आवेदन कर्ता का आधार कार्ड और पहचान-पत्र किसान का मूल निवास प्रमाण-पत्र ,जमीन की जमाबंदी जिसमे खसरा खतौनी की जानकारी हो ।

मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो ,बैंक पासबुक की कॉपी, और स्वयं का घोषणा पत्र जरूरी है।

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना में आवेदन कैसे करें ?

(Krishi Input subsidy Yojana) किसान साथियों आपकी भी खरीफ (सीजन 2021-22) के अंतर्गत फसल में नुकसान हुआ है और आप इनपुट योजना की पात्रता और शर्तों को फॉलो करते हैं तो आप इनपुट सब्सिडी योजना में आवेदन कर सकते हैं।

जिसके लिए आप बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट – https://dbtagriculture.bihar.gov.in/CheckStatusKharif2122.aspx पर आवेदन कर सकते हैं। हालांकि इनपुट योजना में बिहार के बहुत से किसान साथी जिनकी खरीफ की फसल खराब हुई थीं, वे आवेदन कर चुके हैं।

इस योजना के संबंध में अधिक जानकारी के लिए बिहार राज्य के किसान अपने क्षेत्र के कृषि विभाग या ग्राम पंचायत से अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी