WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

क्या हटेगा रूस से गेंहू निर्यात प्रतिबन्ध जाने गेंहू बाजार की खबर

रूसी गेहूं तमाम बाधाओं के बावजूद रूसी गेहूं का निर्यात ( रूस से गेंहू निर्यात ) सामान्य स्तर पर रहने के आसार। रूस में 2022-23 सीजन के दौरान गेहूं का उत्पादन तेजी से बढ़कर नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया था जबकि 2023-24 के नए मार्केटिंग सीजन (जुलाई-जून) के दौरान उत्पादन उससे काफी कम होने की संभावना है।

रूस से गेंहू निर्यात
रूस से गेंहू निर्यात

इसके बावजूद अगले सीजन में वहां से गेहूं का कुल चालू सीजन के लगभग बराबर ही होने की उम्मीद है। एक अग्रणी विश्लेषक फर्म के अनुसार रूस में पिछले साल गेहूं का उत्पादन उछलकर 1042 लाख टन के सर्वकालीन सर्वोच्च स्तर पर पहुंच गया था मगर चालू वर्ष मेँ यह घटकर 8.53 लाख टन पर सिमट जाने की संभावना है। लेकिन वहां विशाल पिछला बकाया स्टॉक मौजूद रहने से इसकी कुल उपलब्धता चालू वर्ष के लगभग समान रह सकती है।

उल्लेखनीय है कि एकल रूप में रूस दुनिया में गेहूं का सबसे बड़ा निर्यातक एवं चीन तथा भारत के बाद तीसरा सबसे प्रमुख उत्पादक देश है। पिछले सीजन के दौरान वहां मौसम अत्यन्त अनुकूल या लगभग आदर्श रहा था लेकिन चालू वर्ष में स्थिति कुछ भिन्न दिखाई पड़ रही है। इसके फलस्वरूप औसत उपज दर एवं कुल पैदावार में गिरावट आने की आशंका है।

रूस से गेंहू निर्यात की संभावना –

कुल उपलब्धता लगभग समानरहने की उम्मीद के आधार पर विशेलषक फर्म ने 2023-24 के मार्केटिंग सीजन में रूस से गेहं का कुल निर्यात 430 लाख टने होने की संभावना व्यक्त की है जो 2022-23 के वर्तमान मार्केटिंग सीजन के सकल अनुमानित निर्यात 441 लाख टन से महज 11 लाख टन कम है। विश्लेषक फर्म के मुताबिक रूस से करीब 340 लाख टन गेहं का निर्यात पहले ही हो चुका है और मिस्र, तुर्की तथा ईरान इसके शीर्ष खरीदार रहे।

यह भी देखे – बारिश से गेंहू की फसल पर पड़ा बड़ा असर जाने क्या गेंहू का रेट छुएगा आसमान

फ्री स्कूटी योजना – 30 हजार लड़कियों को मिलेगी फ्री में स्कूटी ऐसे उठाए लाभ

गेहू भाव में आई बम्फर तेजी जानिए यह रहे आज के ताजा गेंहू के भाव

500 रु में गैस सिलेन्डर लेने के लिए अभी करे यह जरूरी काम घोषणा के आदेश हुए जारी

हालांकि ऐसी चर्चा है कि रूस की सरकार गेहूं के निर्यात पर प्रतिबंध लगाने की योजना बना रही है और पिछले दिनों सभी सम्बद्ध पक्षों से इस बात पर बातचीत भी की गई लेकिन इस खबर की पुष्टि नहीं हो पाई है। विश्लेषक फर्म का कहना है कि गेहूं का दाम बढ़ाने तथा निर्यात को प्रभावित करने के लिए यह अफवाह फैलाई गई होगी। लेकिन समझा जाता है कि रूस की सरकार बाजार को समर्थन देने तथा पश्चिमी देशों के साथ प्रतिबंध के लिए सौदेबाजी करने के उद्देश्य से यदि आगामी सप्ताहों या महीनों में गेहूं के निर्यात को रोकने का संकेत देती है तो इसमें कोई हैरानी की बात नहीं होगी। अमरीका तथा पश्चिमी देशों द्वारा रूस पर पिछले साल ही आर्थिक प्रतिबंध लगाया गया था जो अभी तक बरकरार है।

रूस से गेंहू निर्यात | गेंहू का भाव | गेंहू का रेट | आज का गेंहू भाव