WhatsApp Channel Join Now

उड़द देसी चना काबुली चना मुंग मसूर राजमा मोठ सभी की तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 ; Grains report 2023

नमस्कार किसान साथियो Grains report 2023 आज की इस पोस्ट के अंदर जानेगे , मुंग मोठ मसूर राजमा चना देसी चना सभी अनाजो की ताजा साप्ताहिक बाजार रिपोर्ट , फसलो के नादर मंडियो में क्या चल रहा है और आगामी दिनों में क्या हो सकता है सभी जानकारी निचे दी गयी है

उड़द का भाव – समीक्षा – करेक्शन के बाद फिर बढ़ेगी

सरकार का प्रेशर उड़द की महंगाई को रोकने की कार्यवाही चल रही है, लेकिन उड़द का स्टॉक किसी भी मंडियों में नहीं है तथा वर्तमान में बर्मा से आयात करने पर काफी महंगी पड़ रही है। आयातक नये सौदे भी कम कर रहे हैं। चेन्नई में भी ज्यादा माल नहीं है, यही कारण है कि गत सप्ताह नीचे में एसक्यू 8750 रुपए बिकने के बाद एसक्यू 9000 रुपए प्रति क्विंटल कल बिकने के बाद आज बाजार 8800 बोलने लगे हैं। इसी तरह एफ ए क्यू के भाव भी 8225 रुपए नीचे में बिक गयी, इन परिस्थितियों में उड़द का व्यापार हर भाव में करते रहना चाहिए। माल की कमी से अभी और घटने वाली बात नहीं है, क्योंकि नई फसल घरेलू की बिजाई अभी चल रही है।

नोहर कृषि अनाज मंडी भाव ; Nohar mandi bhav today

ग्वार की बिजाई पिछड़ी देखे ग्वार की रिपोर्ट

मसूर का भाव – समीक्षा (अब व्यापार में रिस्क नहीं) Grains report 2023

हालांकि मसूर का दबाव बहुत ज्यादा उत्पादक मंडियों में नहीं है, लेकिन अन्य दलहनों की बिक्री ठप पड़ जाने से मसूर दाल की मिलिंग करने वाले भी कारोबारी माल कम खरीद रहे हैं। दूसरी ओर बीनागंज, भोपाल लाइन में किसानी माल की थोड़ी आवक बढ़ जाने से वहां से बिकवाली का प्रेशर बन गया है। यही कारण है कि पिछले चार-पांच दिनों के अंतराल 25/30 रुपए प्रति क्विंटल की गिरावट मसूर में आ गई है, लेकिन अब यहां बाजार आकर ठहर जाएगा। वर्तमान में 6100 रुपए की बिल्टी में मसूर लाभ दे जाएगी, क्योंकि देशी मसूर जो 250 रुपए नीचे बिक रही थी, वह अब ऊपर बिक रही है। क्विंटल में मिल रही है, इसमें दूर-दूर तक जोखिम नहीं है।

सरसों के भाव (2023) में लौटी तेजी या मंदी ? देखे आज के ताजा सरसों के भाव देशभर में

अचानक आई बाढ़ में बह गए कार समेत 3 दोस्त देखे पूरी खबर

मूंग का भाव -समीक्षा वर्तमान में रिस्क रहेगा

पुरानी मूंग शॉर्टेज में जरूर है, तथा मौसम खराब होने से यूपी बिहार की मूंग पिछले 3 दिनों के अंतराल काफी कम उतरी है तथा उधर बरसात होने से लोडिंग कम है, जिसके चलते इसमें 600 से 700 रुपए प्रति क्विंटल की तेजी आ गई है। अब वर्तमान के बढ़े हुए भाव में जरूरत के अनुसार ही माल खरीदना चाहिए, क्योंकि उत्पादक मंडियों में माल प्रचुर मात्रा में है। मौसम साफ होने पर माल लगातार आएगा। इधर राजस्थान महाराष्ट्र में मूंग की बिजाई अधिक होने के समाचार मिल रहे हैं, इन परिस्थितियों में और ज्यादा तेजी का व्यापार नहीं करना चाहिए।

तुवर का रेट – समीक्षा (फिर तेजी संभव)

वास्तविकता यह है कि तुवर शार्टेज में आ गई है, जिससे चेन्नई, दिल्ली कारोबारी हर भाव प्रतिस्पर्धात्मक मांगने लगे हैं, जिस कारण तुवर के भाव एक माह पहले उपर में 108.5 रुपए बन गये थे, जो वर्तमान में सरकार की दहशत एवं मुनाफावसूली की बिकवाली से 103 रुपए प्रति किलो लेमन क्वालिटी की रह गई है। रंगून से तुवर दिल्ली के पड़ते से 500 रुपए ऊपर मिल रही है तथा वहां से लोडिंग लेट हो गई है। अभी हाल ही में 40-45 डॉलर प्रति टन और बढ़ाकर भाव वहां बोलने लगे हैं। तुवर की कोई फसल आने वाली नहीं है तथा आगे खपत को देखते हुए अगले दो-तीन दिनों के अंतराल ही लेमन तुवर 105 रुपए प्रति क्विंटल बन सकती है तथा दाल में भी इसी अनुपात में तेजी आ जाएगी।

राजमा का भाव – समीक्षा (अब मंदे का समय नहीं) Grains report 2023

राजमां चित्रा में ब्राज़ील, चाइना के कंटेनर मुंबई में ज्यादा नहीं लगे हुए हैं, वहीं कोई बिकवाल भी घटाकर नहीं है। वहां चाइना 124/127 रुपए प्रति किलो ह्वाइट क्वालिटी का बिक रहा है, जो यहां चुगवाकर क्वालिटी अनुसार बहुत बढ़िया माल 128/132 रुपए प्रति किलो बोल रहे हैं। इसके अलावा हल्के कंटेनर चाइना-ब्राजील का मुंबई में 119 से 122 रुपए प्रति किलो के बीच बोल रहे हैं। बढ़िया सिलेक्टेड माल नहीं है, इसके अलावा चाइना सहित सभी हल्के माल की आपूर्ति भी घट गई है, इसे देखते हुए अब मंदे की गुंजाइश नहीं है।

देसी चना में तेजी कब आएगी -समीक्षा (मंडियों से पड़ते महंगे)

चालू सप्ताह के अंतराल राजस्थान से चने की आवक लारेंस रोड, नरेला, राई, कुंडली की दाल मिलों में घट जाने से पकड़ मजबूत हो जाने से राजस्थानी चना 50 रुपए बढ़कर 5240/5250 रुपए प्रति क्विंटल लॉरेंस रोड पर खड़ी मोटर में हो गया है। हल्के माल 5200 रुपए प्रति क्विंटल बिकने लगे हैं। उत्पादक मंडियों से पड़ते बढ़िया चने के 100 रुपए महंगे लग रहे हैं, जिससे हल्के माल अधिकतर दाल मिलें पड़ते के अभाव में चला रही हैं, क्योंकि दाल के भाव भी 5850 रुपए प्रति क्विंटल रह गए हैं। बाजार में भी छोटे दाने के 5730 रुपए से कम में कोई माल नहीं है। इसलिए कभी भी बाजार 200 रुपए की बढ़त बन सकती है।

मोठ का भाव – समीक्षा (अभी घटने की गुंजाइश नहीं)

मोठ में भी पिछले माह के अंतराल 100 रुपए प्रति क्विंटल की गिरावट पर यहां 6650/6700 रुपए प्रति क्विंटल का व्यापार हुआ था। इसमें भी धोया बनाने वाली मिलें खरदने लगी हैं, क्योंकि मूंग के भाव काफी बढ़ गए हैं। राजस्थान की मंडियों में नमकीन भुजिया बनाने वाली कंपनियां भी मोठ नीचे भाव में खरीदने लगी हैं, इन परिस्थितियों में बाजार अभी कुछ तेज रहने के आसार हैं। नई फसल आने में अभी लंबा समय बाकी है। अतः आगे चलकर मोठ एक बार शॉर्टेज में बन जाएगी। Grains report 2023

काबुली Grains report 2023 : समीक्षा (चना और तेजी की उम्मीद)

काबली चने की आपूर्ति एमपी, महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश चारों प्रमुख उत्पादक राज्यों में अनुकूल नहीं है, दूसरी ओर आयात पड़ता महंगा है तथा दूसरे देशों के लिए मोटे मालों का निर्यात हो रहा है जिससे उत्पादक मंडियों में स्टाक बिल्कुल नहीं है फलत: वितरक मंडियों में भी माल का अभाव बना हुआ है, इन सारी परिस्थितियों को देखते हुए कर्नाटक महाराष्ट्र के माल में व्यापार करते रहना चाहिए तथा रुक रुक कर तेजी कायम रहेगी।