WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

मेरी फसल मेरा ब्यौरा – मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना में बदलाव

मेरी फसल मेरा ब्यौरा | | नमस्कार किसान साथियो आज ही करवाए अपनी फसल का पंजीयन और पाए बिमा | पंजीयन के बिना अब ये सब्सिडी नहीं मिलेगी | जानेगे पोस्ट में सम्पूर्ण जानकारी | मेरी फसल मेरा ब्यौरा की जानकारी पोस्ट के निचे दि गयी है |



किसानों के लिए इस योजना के तहत फलों की खेती पर 40 हजार रुपए व सब्जियों व मसालों पर 30 हजार रूपए प्रति एकड़ का बीमा किया जाएगा

मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना में 9 अन्य सब्जी व 17 फलों की किस्मों को किया शामिल

मेरी फसल मेरा ब्यौरा
मेरी फसल मेरा ब्यौरा

मुख्यमंत्री बागवानी बीमा योजना में अब कुल 47 फसलें शामिल हुई शामिल

नारनौल 31 जनवरी। किसान साथियों बागवानी से संबंधित किसी भी सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण करवाना  जरूरी है। इसके लिए फसल डॉट हरियाणा डॉट जीओवी डॉट इन पर बागवानी फसलों का पंजीकरण करा सकतें है। बागवानी फसलों में होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए प्रदेश सरकार की ओर से बागवानी बीमा योजना चलाई जा रही है। इसमें इच्छुक किसान एमबीबीवाई डॉट एचओआरटीहरियाणा डॉट जीओवी डॉट इन पर पंजीकरण करवांए।

यह भी जाने – गेहू की तेजी मंदी रिपोर्ट | pm किसान सम्मान निधि योजना में बदलाव


यह जानकारी देते हुए जिला उद्यान अधिकारी डा. प्रेम कुमार यादव ने  बातचीत में बताया की ये योजना किसानों को सब्जियों, फलों और  मसालों को प्राकृतिक आपदाओं से होने वाले नुकसान  से मुक्त कर फसल लागत की भरपाई करने में उपयोगी साबित होगी। बागवानी किसानों को विभिन्न कारणों से भारी वित्तीय नुकसान उठाना पड़ता है।

फसलों में ओलावृष्टिी, पाला, बाढ़, बादल फटना, आंधी तुफान, ज्यादा तापमान व सूखा जैसी आपदाओं से उन्हे नुकसान उठाना पड़ता है। अब इस योजना के तहत सब्जियों फल और मसाले की फसलों को सुरक्षा कवच उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंंने बताया कि जिला के किसानों के लिए इस योजना के तहत फलों की खेती पर 40 हजार रुपए प्रति एकड़, सब्जियों व मसालों पर 30 हजार रूपए प्रति एकड़ का बीमा किया जाएगा।

ये फसल की गयी शामिल –

इसके लिए किसान को फलों की खेती पर एक हजार प्रति एकड़ एवं सब्जियों व मसालों पर 750 रूपए प्रति एकड़ का प्रीमियम भुगतान करना होगा। इस योजना का लाभ लेने के लिए एमबीबीवाई डॉट एचओआरटीहरियाणा डॉट जीओवी डॉट इन पर बागवानी फसलों का बीमा के लिए पंजीकरण करा सकते हंै।

इस योजना के तहत सब्जियों में टमाटर, प्याज, आलू, फूल गोभी, मटर गाजर, भिंडी घीया, करेला, बैंगन, हरी मिर्च, षिमला मिर्च, पता गोभी व मूली मूली वहीं फलों की फसलों में आम, किन्नू, बेर, लिचि व अमरूद सहित मसालों में हल्दी व लहसुन की फसलों को योजना के तहत सूचीबद्घ किया गया है।

यह भी पढ़े गेहू आटा निर्यात में बदलाव | आज का वायदा बाजार भाव | रबी फसलो का बुवाई आंकड़ा

उन्होंने बताया कि इनके अतिरिक्त 9 अन्य सब्जी व 17 फलों की किस्मों को भी शामिल किया गया है। अब कुल 47 फसलें योजना में शामिल हो गई हैं। योजना के तहत बीमा दावे का निपटारा करने के लिए सर्वे किया जाएगा जिसके तहत फसल नुकसान को 26 से 50 प्रतिशत, 50 से 75 प्रतिशत और 75 से 100 प्रतिशत में आंका जाएगा।

हालांकि मेरी फसल मेरा ब्यौरा रजिस्ट्रेशन की समय की शर्त जोड़ी गई है, यानि तय समय सीमा में रजिस्ट्रेशन कराने पर ही नुकसान की बीमा राशि दी जाएगी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए किसी भी कार्य दिवस में ब्लॉक स्तर पर उद्यान विकास अधिकारी कार्यालय में जाकर जानकारी ले सकते हैं।

किसान तय समय में करवाएं मेरी फसल मेरा ब्यौरा पर फसल पंजीकरण-

 
नारनौल। जिला उद्यान अधिकारी डा. प्रेम कुमार यादव ने बताया कि लौकी, करेला, फूलगोभी, अमरूद, भिंडी, बैंगन, ककड़ी, टिंडा, तोरई, कद्दू, खीरा व अरबी के लिए किसान 1 अप्रैल से 31 जुलाई तक पंजीकरण करवाएं।
इसी पकार खरीफ प्याज के लिए 1 अगस्त से 25 सितंबर तक

बजट 2023 हाइलाइट्स हिंदी में यहाँ क्लिक करे

अमरूद (बरसाती) के लिए 1 अप्रैल से 31 मई तक, अमरूद (शीतकालीन) तथा बेर के लिए 1 सितंबर से 31 अक्टूबर तक, ड्रैगन फल व हल्दी के लिए 1 मई से 31 जुलाई तक, अनार, मालटा, नींबू, लैमन, संतरा, आंवला व किन्नू के लिए 1 मार्च से 31 मई तक पंजीकरण करवाएं।

उन्होंने बताया कि आडू, नाशपाती, आलु बुखारा, जामुन, अंगूर, लीची, अंजीर, खजूर व आम के लिए 1 फरवरी से 31 मई तक, चीकू के लिए 1 सितंबर से 30 नवंबर तक, स्ट्राबेरी के लिए 1 सितंबर से 31 जनवरी तक, टमाटर, आलू, फूलगोभी, गाजर, पत्ता गोभी, मूली, लहसुन के लिए 15 सितंबर से 31 जनवरी तक

रबी प्याज के लिए 15 दिसंबर से 31 जनवरी तक, जुकिनी के लिए 15 नवंबर से 31 जनवरी तक तथा भिंडी, लौकी, करेला, बैंगन, मिर्च, शिमला मिर्च, खरबूज, तरबूज, ककड़ी टिंडा, तोरई व कद्दू के लिए 15 जनवरी से 15 मार्च तक पंजीकरण करवाएं।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल का उदेश्य –

किसान का पंजीकरण, फसल का पंजीकरण, खेत का ब्यौरा और फसल का ब्यौरा | योजना का उदेश्य –

किसानों के लिए एक ही जगह पर सभी सरकारी सुविधाओं की उपलब्धता और समस्या के निवारण के लिए एक अनूठा प्रयास |

कृषि संबंधित सभी जानकारियाँ समय पर किसानो को उपलब्ध करना |

खाद्य ,बीज ,ऋण व कृषि उपकरणों की सब्सिडी [ अनुदान ] समय पर उपलब्ध करवाना |

फसल की बिजाई-कटाई का समय व मंडी से संबंधित जानकारी उपलब्ध करना |

प्राकृतिक आपदा-विपदा के दौरान सही समय पर सहायता दिलवाना |

meri fasal mera byora – all details in hindi

पोर्टल का नाममेरी फसल मेरा ब्योरा
शुरू किया गयामुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर जी द्वारा
साल2022
रजिस्ट्रेशन प्रक्रियाऑनलाइन
पंजीकरण प्रक्रिया शुरू22 से 24 सितंबर
लाभार्थीराज्य के सभी किसान
उद्देश्यकिसानों को कृषि संबंधित सभी जानकारी
ऑनलाइन माध्यम से प्रदान करने की सुविधा देना
श्रेणीराज्य सरकारी योजना
आधिकारिक वेबसाइटclick here
meri fasal mera byora

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना की पात्रता व दस्तावेज

Meri fasal mera byora yojna –  के लिए राज्य सरकार ने कुछ पात्रता यानि नियम और शर्ते निर्धारित की है यदि आप उन सभी को फॉलो करते है तो निचे दिए गए कागजातों की आवश्यकता आपको होगी –

पोर्टल पर आवेदन के लिए आवेदक हरियाणा राज्य का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है

आवेदक के पास अपना सयम का आधारकार्ड

 स्थाई मूल निवास प्रमाण पत्र

जमीन के दस्तावेज (जमाबंदी नकल, खसरा संख्या आदि )

मोबाइल नंबर जौ आधार से लिंक हो

पासपोर्ट साइज फोटो

meri fasal mera byora-मेरी फसल मेरा ब्यौरा – से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण सवाल –

मेरी फसल मेरा ब्यौरा क्या योजना क्या है ?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा योजना हरियाणा सरकार द्वारा शुरू की गई है, जिसके लिए पोर्टल लांच किया गया है, इस पोर्टल के तहत राज्य के किसानों को उनकी फसलों का पूरा ब्योरा घर बैठे ही प्राप्त मिल सकेगा |

Meri Fasal Mera Byora में रजिस्ट्रेशन के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट क्या है ?

Meri Fasal Mera Byora  में पंजीकरण के लिए इसकी आधिकारिक वेबसाइट  fasal.haryana.gov.in  है

हरियाणा मेरी फसल मेरा ब्यौरा का हेल्पलाइन नंबर क्या है ?

हरियाणा राज्य मेरी फसल मेरा ब्यौरा से संबंधित जानकारी या रजिस्ट्रेशन से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या होने पर आवेदक मेरी फसल मेरा ब्यौरा  हेल्पलाइन नंबर : 0172-2571553, 2571544  पर संपर्क कर सकते है।

मेरी फसल मेरा ब्यौरा के लिए किसान व्यक्ति पोर्टल में अपना पंजीकरण कब तक कर सकते है ?

मेरी फसल मेरा ब्यौरा हेतु किसानों के लिए पोर्टल में पंजीकरण करने की सुविधा उपलब्ध की गयी है सभी किसान तय तिथि से पहले पहले अपना पंजीकरण कर सकते है।

फसल पंजीकरण last date ,मेरी फसल मेरा ब्यौरा लास्ट डेट 2023 | किसान फसल पंजीकरण | फसल पंजीकरण कैसे चेक करें

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी