WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

हिमाचल के रस्ते से आएगा अब एसवाईएल (syl) का पानी cm मनोहर और सुखविंदर सिंह की मीटिंग

नमस्कार किसान साथियो ( एसवाईएल (syl) का पानी ) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल और हिमाचल के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिह की बैठक आज 5 जून को चंडीगढ़ में हुई जिस पर सभी की नजर बनी हुई थी , अब हिमाचल के रस्ते से आएगा syl का पानी जानेगे साडी रिपोर्ट आज की इस पोस्ट में 

किसान मित्रो एक तरफ जहा पंजाब , सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद भी  हरियाणा को syl का पानी देने के लिए तैयार नहीं है ऐसे में हरियाणा की सरकार ने हिमाचल के रस्ते से syl  का पानी लाने का भरपूर प्रयाश कर रही है .  लेकिन उसमे भी टांग अदने वालो की गर्माहट बढती जा रही है .  आज पानी के इस अहम् फैसले को लेकर चंडीगढ़ में हरियाणा और हिमाचल के cm की बैठक चंडीगढ़ में हुई .  हालकी किसान साथियो इस से पहले एक बैठक हो चुकी है जिसमे  इस मीटिंग में सीएम ने सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग, नगर एवं ग्राम आयोजना व लोक निर्माण विभाग की 100 करोड़ रुपए से अधिक के प्रोजेक्ट समीक्षा भी की।

यह भी जाने – गेहूं में रिकॉर्ड स्तर तेजी जारी कैसा रहेगा इस सप्ताह गेहूं का बाजार भाव

क्या सरसों फिर तोड़ेगी रिकॉर्ड? जानिए कैसा रहेगा इस सप्ताह सरसों का बाजार सरसों साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट 2023

खाश बात यह है की इस में किसू बांध का बनाना , न्यू लिंक चैनल का निर्माण करना , सरस्वती नदी का कायाकल्प , हेरिटेज विकाश परियोजना syl (एसवाईएल (syl) का पानी ) के पानी को हिमाचल से लाने जैसे विषयों पर दोनों मुख्यमन्त्रियो के बिच मंथन हुआ .

पंजाब के नेताओ में हल्बली मची syl के पानी को लेकर कहा विरोध करेंगे

किसान साथियो आपकी जानकारी के लिए बता दे की मुख्यमंत्री सिंचाई और जल संसाधन विभाग और लोक निर्माण विभाग से सम्भ्न्धित 100 करोड़ से अधिक किम योजनाओ को लेकर पिछली हिमाचल के साथ बैठक के लिए होम वर्क भी किया गया  है . जिससे योजना का संचालन सही से किया जा सके . और पानी का सदुपयोग भी हो जाये .

इसी कड़ी में पंजाब के पूर्व उप. मख्यमंत्री अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने टांग अदने का कार्य किया है . जिसके लिए उन्होंने कहा है की इस तरह का अगर कोई फैसला होता है तो वो विरोध करेंगे और हिमाचल से एक बूंद भी पानी नहीं लेने देंगे .

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी