WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

फ़सल बिमा 2023 – हनुमानगढ़ जिले के इन किसानो का बकाया बिमा क्लेम हुआ जारी देखे नाम और राशी

फ़सल बिमा 2023 – प्रधानमंत्री फसल बिमा योजना 2023 – किसान साथियो राजस्थान के हनुमानगढ़ जिले की तहसील भादरा ,नोहर , पीलीबंगा ,टी.बी , रावतसर , पीलीबंगा , के किसानो का बिमा क्लेम जारी कर दिया गया है | आज की इस पोस्ट में जानेगे सम्पूर्ण जानकारी सभी तहसील और गाँवो की पीडीऍफ़ निचे दि गयी है  जहा से आप अपना नाम और बिमा क्लेम (फ़सल बिमा 2023 ) देख सकते है  |

आपकी जानकारी के लिए बता दे हनुमानगढ़ जिले का 266.83 करोड़ रूपए बिमा क्लेम प्राप्त  किया है | एक लम्बे अरसे के बाद हनुमानगढ़ के 17,44,107 बीमित पॉलिसियो में 7,75,554 पॉलिसियो का बिमा क्लेम जारी किया गया है  |

फ़सल बिमा 2023
फ़सल बिमा 2023

किसान मित्रो नीचे की pdf में आप हनुमानगढ़ जिले की सभी तहसील भादरा, नोहर, पीलीबंगा, संगरिया, टी.बी., रावतसर के सभी पटवार मंडलो की बीमा क्लेम राशी को देख सकते है.

आज का दिल्ली मंडी भाव देखने के लिए क्लीक करे 

नरमा की उन्नत और नयी किस्म यहाँ क्लीक करे

ग्वार का भाव जानने के लिए यहाँ क्लिक करे

आज का नरमा कपास कला भाव यहाँ क्लिक करे

आगमी मौसम जानकारी यहाँ क्लिक करे

बकाया फसल बिमा किसानो को मिलेगा इस तारीख को  –

किसान मित्रो कृषि आयुक्त दानाराम गोदारा कृषि उपनिदेशक हनुमानगढ़ ने बातचीत में  बताया की सीजन खरीफ – 2021 की कुल 17,44,107 बीमित पॉलिसिया थी जिनमे करीबन  7,75,554 पॉलिसियो का बिमा क्लेम  जारी कर दिया है. बकाया खरीफ 2021 का फसल बीमा जल्द किसानो को मिले इसके लिए उपनिदेशक- कलेक्टर-जनप्रतिनिधि लगातार प्रयासरत हैं। ( फ़सल बिमा 2023 )

फ़सल बिमा 2023 – साल 2021 में किसानो की फसल खराबे का आंकड़ा –

 किसान मित्रो जानकारी के अनुसार खरीफ सीजन  2021 में कुल 1 लाख 47 हजार 353 किसानो नेअपनी विभिन फासले जैसे  ग्वार, मूंग, बाजरा, नरमा और धान आदि की बिमा पालिसी करवाई थी | लेकिन सबसे ज्यादा नोहर तहसील के किसानो ने 45 हजार 600 फसल बिमा पालिसी और रावतसर में 29 हजार 400 किसानो ने अपनी फसल का फसल बीमा करवाया। वर्ष 2021 में अक्टूबर में अति भारी बारिश और तेज अंधड़ जैसा मौसम रहने के कारण नरमा की फसल में लगभग 30फीसदी , ग्वार में 20फीसदी , बाजरा में 30  फीसदी और मूंग की फसलों में 70  फीसदी का नुकसान किसानो को हुआ था। किसानो को लम्बे समय से क्लेम नहीं मिलने से किसानो के चेहरे पर उदाशी थी  |

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी