WhatsApp Channel Join Now

ग्वार की टॉप उन्नत किस्मे ;Top Varieties of Guar , ग्वार की खेती

नमस्कार किसान साथियो आज की पोस्ट में जानेगे Top Improved Varieties of Guar ग्वार की टॉप उन्नत किस्मे बारे में , किसान साथियो रबी फसलों का सीजन ख़त्म हो चूका है और खरीफ की खेती का सीजन शुरू हो चूका है . उतर भारत में पिछले दो दिनों से हुई काफी अधिक बारिश के कारण किसान साथीओ ने ग्वार , बाजरा , मुंग , मोठ सभी फसलो की बिजाई शुरु कर दी है .

ग्वार की टॉप उन्नत किस्मे
ग्वार की टॉप उन्नत किस्मे

किसान मित्रो फसल चाहे कौनसी भी हो बिज की भूमिका सबसे महवपूर्ण मानी जाती है क्यूंकि अगर हम अच्छा बोयेंगे तभी तो अच्छा काटेंगे . इसलिए आज हम आपके लिए लेकर के आये है ग्वार की टॉप उन्नत किस्मो की जानकारी ले कर . किसान मित्रो पोस्ट को पूरा और ध्यान पूर्वक पढ़े

ग्वार की बिजाई का उचित समय / ग्वार की बिजाई कब की जाती है ?

  • किसान साथियो ग्वार की बिजाई का उपयुक्त समय 01 जुलाई से 15 जुलाई का समय सब से अच्छा माना जाता है . क्यूंकि ग्वार की बिजाई अगर हम 15 जुलाई के बाद करते है तो ग्वार का उत्पादन यानी जो उपज है वो हमें कम मिलती है .
  • अबकी बार अच्छी बारिश होने के कारण मई के अंतिम सप्ताह यानी फ़िलहाल ग्वार की बिजाई किसान साथी करने लग गए है , जिसे की ग्वार की अगेती बिजाई कहते है . किसान साथियो ग्वार की अगेती बिजाई और ग्वार की टॉप उन्नत किस्मो की जानकारी निचे दि गयी है .

ग्वार की टॉप उन्नत किस्मे /टॉप 10 ग्वार की उन्नत किस्म – Top 10 Varieties of Guar

हरियाणा यूनिवर्सिटी की वैरायटी HG-365,HG-563,HG- 2-20 हैं बाकि आप अपने क्षेत्र के हिसाब से देख ले जो आपके क्षेत्र में अच्छी हो उसकी बिजाई करें | प्राईवेट में भी कुछ अच्छी वैरायटी हैं शक्तिवर्धक X-6, ग्णेश-672 star-610 आदि, अगर नई वैरायटी बो रहे हैं तो ज्यादा क्षेत्र में बिजाई ना करें |

फ़सल में पोटाश कब डालना चाहिए; पोटाश का महत्त्व और अन्य जानकारियां

ये होती है कपास की तीन स्टेज जानें कपास की खेती से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी

जीरा में तूफानी तेजी ग्वार गम भी तेज देखे आज का वायदा बाजार भाव NCDEX MCX

गेहूं के भाव तोड़ेंगे रिकॉर्ड ? देखे गेहूं के भाव और तेजी मंदी रिपोर्ट

सरसों में तेजी या मंदी देखे आज का सरसों का भाव

:- बीज की मात्रा – इस समय बिजाई कर रहें हैं तो बीज की मात्रा कम रखें क्योंकि मानसून आएंगा तो हमारी फसल बगर (फूलों ) पर होगी |क्यूंकि अभी तक मानसून केरल भी नहीं पहुंचा है . बीज की मात्रा ज्यादा होने की वजह से हमारी फसल हाइट ज्यादा लेगी और फूलों की संख्या कम होगी |अब बिजाई कर रहें हो तो प्राईवेट वाली बिजाई करें क्योंकि यह फुटाव ज्यादा लेती हैं | प्राईवेट वाली बो रहें हैं बीज की मात्रा 2 -3 किलो , यूनिवर्सिटी वाली हैं तो 3-4 किलो बीज की मात्रा रहेगी |

:- विशेष नोट – मेरे प्यारे किसान साथियों अगर आपकी जमींन बीज नहीं रखती हैं तो बीज की मात्रा कम ही रखें

किसान साथियो हमारा उदेश्य सिर्फ किसानो तक जानकारी पहुँचाना है .किसी तरह का विज्ञापन देना नहीं है . इसलिए बिज का चुनाव आप अपने हिसाब से करे . जय जवान जय किसान