WhatsApp Channel Join Now

wheat grains export ; गेंहू निर्यात प्रतिबंध पर जल्द फैसला ले सकती है भारतीय सरकार

wheat grains export news – गेंहू निर्यात प्रतिबन्ध

विदेश व्यापार महानिदेशक संतोष कुमार सारंगी ने गुरुवार को बताया की ,मार्च और अप्रैल के आस – पास गेंहू की फसल की कटाई के समय गेहूं के निर्यात प्रतिबंध हटाने की मांग पर सरकार एक सही निर्णय लेगी ।

wheat grains export
wheat grains export

सारंगी ने बताया की निर्यात के फैसले से पूर्व देश के अंदर गेहूं की मांग एवम आपूर्ति के मध्य के अंतर की समीक्षा की जायेगी उस के बाद उचित निर्णय लिया जाएगा।

विदेश व्यापार महानिदेशालय (dgft) के मुखिया मध्यप्रदेश सरकार द्वारा आयोजित , ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट ‘इन्वेस्ट मध्य प्रदेश’ में शामिल होने के लिए इंदौर थे ! भारत (india) ने बढ़ती घरेलू बाजार कीमतों को नियंत्रण में रखने के उपायों के अंतर्गत मई 2022 में भारतीय सरकार ने तत्काल प्रभाव से कनक ( गेंहू) के निर्यात के उपर प्रतिबंध लगाया था ।

निर्यात प्रतिबंध हटाने की मांग के बारे में पूछने पर सारंगी जी ने pti भाषा में बताया –

‘देश में आम- तौर पर मार्च और अप्रैल में गेहूं की फसल की कटाई होती है। उसी समय के आसपास भारतीय सरकार निर्यात के इस मुद्दे पर उचित फ़ैसला लेगी।’

यह भी जानें;

ग्वार भाव भविष्य 2023 कैसा रहेगा?

इन्वेस्टर्स समिट से इतर उन्होंने बताया , ‘जिस समय यह आभास होगा कि गेहूं ( wheat grains) की मांग और आपूर्ति दोनों संतुलित है ! तब इस खाद्यान्न के निर्यात को शुरू करने की अनुमति देने की व्यवस्था की जाएगी।’

सारंगी जी ने यह भी बोला है कि कपड़ा उत्पादन के क्षेत्र में मध्यप्रदेश (mp) से निर्यात में बढ़ोतरी करने पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए ! क्योंकि प्रदेश में कॉटन उद्योग के कच्चे माल के रूप में नरमा – कपास की बहुत उपलब्धता है ! उन्होंने यह भी कहा कि , गेहूं और चावल, फल और सब्जियों और मसालों के साथ-साथ, राज्य ( mp ) से जैविक और गैर-जैविक रसायनों और इंजीनियरिंग उत्पादों के निर्यात की बढ़ने की संभावना है !

सिर्फ एक प्रश्न के उत्तर में सारंगी जी ने कहा कि सरकार की प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना ! फिलहाल 14 विभिन्न सेक्टरों के लिए चलाई जा रही है ! वही कुछ अन्य क्षेत्रों में इस योजना को बढ़ाया जा सकता है।