WhatsApp Channel Join Now

मुंग भाव और चना का भाव क्या और बढ़ेगा देखे ताजा रिपोर्ट Chana bhav report

नमस्कार किसान साथियो मुंग भाव और चना का भाव ( Chana bhav report ) क्या और बढ़ेगा 2023 में जानेगे आज की इस पोस्ट के माध्यम से । मुंग का भाव , मुंग का भाव कब बढ़ेगा 2023 ,चना का भाव , देसी चना का भाव सभी जानकारी

देसी चना का भाव कब बढ़ेगा 2023 Chana bhav report

देसी चने का उत्पादन कम होने के बावजूद अब तक सरकारी दहशत से मंदे का दौर बना हुआ है। प्राइवेट सेक्टर में ज्यादा माल नहीं है, उत्पादक मंडियों में आवक काफी टूट गई है, लेकिन बाहरी ट्रेड के कारोबारियों द्वारा नीचे भाव में घटाकर बिकवाली किए जाने से बाजार दबा हुआ है। कल नीचे वाले भाव में कल दोपहर बाद से दाल मिलों की पकड़ ठंडी पड़ जाने से लॉरेंस रोड पर राजस्थानी चना 5250 रुपए प्रति क्विंटल खड़ी मोटर में ठहर गया तथा बढ़िया माल 5270 रुपए भी कुछ लोग बोलने लगे हैं। आगे माल की कमी को देखते हुए सरकारी दबाव नहीं आया तो बाजार 200/300 रुपए बढ़ जाएंगे।

Guar teji mandi report , ग्वार तेज़ी मंदी रिपोर्ट 2022 – Farmingxpert

सरसों में कितनी तेजी जाने आज के सरसों के भाव mustard price today

मूंग का भाव कब बढ़ेगा 2023 – मुंग तेजी मंदी रिपोर्ट

बीते दिनों की बरसात बार से मूंग की आवक घट गई थी जिससे 7300 रुपए प्रति क्विंटल कि कानपुर लाइन की मूंग बढ़कर 8000 रुपए बनने के बाद अब 7700/7800 रुपए बोलने लगे हैं। नये टेंडर भी आने वाले हैं जिससे मूंग की उपलब्धि बरकरार रहेगी। कच्चे माल के ऊंचे भाव हो गए हैं, जबकि पक्के माल उस हिसाब से नहीं बिक रहे हैं। यही कारण है कि बाजार काफी बढ़ने के बाद सुस्त पड़ गए हैं तथा आने वाले समय में मूंग अभी 200/300 रुपए और घट सकती है।

सरसों की मांग बढ़ने से सरसों में आई तेजी अंतर्राष्ट्रीय बाजार से अच्छी खबर जानिए सरसों तेजी मंदी रिपोर्ट

क्या हनुमानगढ़ में फिर होंगे 1995 जैसे हालात ; घग्घर में पानी का उफान Hanumangarh news

यहां बाजार 3 दिनों में 300 रुपए घटकर कानपुर माल के भाव 7700/7800 रुपए प्रति क्विंटल रह गए हैं तथा धोया के मतलब वाले माल भी 7000/7300 रुपए के बीच बिकने लगे हैं। प्रयागराज रांची लाइन के माल 7600/7800 रुपए बोल रहे हैं। मध्य प्रदेश सरकार का दो लाख मैट्रिक टन बिक्री का टेंडर और आने वाला है ऐसी चर्चा है। पिछले 5-6 दिनों से आई तेजी के बाद हल्के माल गोदामों से निकलने लगे हैं, इन परिस्थितियों में और तेजी का व्यापार नहीं करना चाहिए