WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Facebook Page (70k) से जुड़े Follow
Whatsapp Channel से जुड़े Follow Now

 

ग्वार की उन्नत किस्मे 2023 ग्वार बीज की टॉप वेराइटी GUAR KI TOP VERIETY

ग्वार की उन्नत किस्मे 2023 – ग्वार का टॉप बीज , ग्वार की अच्छी किस्मे कौनसी है , ग्वार की उन्नत किस्मे

TOP VERIETY GUAR SEED

पिछले कई वर्षो में दोहराए गए इतिहास को देखा जाये तो किसानो को ग्वार के अच्छे भाव मिलने से बहुत से क्षेत्रो में किसानो का ग्वार की खेती की तरफ रुझान तेजी से बढ़ा है | काफी समय से बहुत से किसान अच्छे उत्पादन देने वालो ग्वार की किस्मो की खेती कर अच्छा मुनाफा कमा रहे है | जानकारी के लिए बता दे कि ग्वार एक खरीफ की फसल है जो हरियाणा , राजस्थान , उत्तर प्रदेश , मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र में अधिक मात्रा में बोई जाती है | यदि आप भी ग्वार की खेती करते है तो ये जानकारी आपके लिए फायदेमंद साबित होगी |

ग्वार की उन्नत किस्मे 2023
ग्वार की उन्नत किस्मे 2023

दोस्तों बहुत से क्षेत्र ऐसे भी है जिनमे सिंचाई नहीं होती और बहुत से क्षेत्र ऐसे भी है जिनमे बहुतायत से सिंचाई होती है आज हम दोनों क्षेत्रो सिंचित और असिंचित क्षेत्रो की वेरिएटी के बारे में बात करेंगे |

मेले में आया 6 लाख का बकरा देखकर  सभी रह गए दंग जानें स्मपूर्ण कहानी Pashudhan mela

weather today – एक बार फिर इंद्र देव करेंगे तांडव जानिए आगामी 10 दिनों का मौसम कैसा रहेगा

मेड़ता मंडी आज का भाव एक दिन में मेड़ता मंडी में हुआ 50 करोड़ से अधिक लेन देन

ग्वार की 10 उन्नत किस्मे ( TOP 10 VERIETY OF GUAR SEED ) gawar ki top kism

दोस्तों आज बाजार में बहुत सी ग्वार के बीज की वेराइटी उपलब्ध है | आज हम जिन किस्मो की बात करेंगे वो किस्मे काफी किस्नानो की पसंद और अनुभव के आधार पर है | इन किस्मो का उत्पादन भूमि की मिटटी और उपजाऊ पन पर निर्भर करता है जिसके आधार पर इसका उत्पादन कम ज्यादा हो सकता है | ग्वार की उन्नत किस्मे 2023

  1. टाइगर ग्वार सीड्स —  यह वेराइटी शक्ति सीड्स कंपनी द्वारा तैयार की गई है | ग्वार की इस किस्म में अधिक शाखाये निकलती है और इसके पौधे का फैलाव भी अधिक होता है  तथा उत्पादित दाने गोल , चमकदार और अधिक वजन वाले होते है | इस वेराइटी में जड़ गलन ,झुलसा और ब्लाइट जैसे रोगों के प्रति अधिक सहनशक्ति होती है | यह पकने में लगभग 100-110 दिन का समय लेती है | इस वेराइटी की अधिकतम उपज लगभग 7-10 क्विंटल / एकड़ देखने को मिलती है | यह किस्म सभी प्रकार की मिटटी के लिए उपयुक्त मणि गयी है |
  2. शक्ति-1 —  ग्वार सीड की यह वेराइटी शक्ति एग्रोटेक कम्पनी द्वारा तैयार किया गया है | यह बीज भी अनेक शाखाओ वाला होता है और इसमें ग्वार गम की मात्रा भी अधिक होती है | इस किस्म में रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक पाई जाती है | यह जल्दी पकने वाली किस्म होती है जो लगभग 60-80 दिनों में पककर तैयार हो जाती है | इस किस्म का उत्पादन लगभग 7-8 क्विंटल/ एकड़ देखा गया है |
  3. गोपी —  ग्वार की यह किस्म गोपी सीड्स कम्पनी द्वारा तैयार किया गया है | इस बीज की बिजाई हम सिंचित और असिंचित दोनों क्षेत्रो में केर सकते है | इसकी फसल लगभग 80-90 दिन में पककर तैयार हो जाती है | इस किस्म में गवार गम की मात्रा अधिक पाई जाती है | इस किस्म का उत्पादन लगभग 5-7 क्विंटल/एकड़ होता है |
  4. सुपर X-7 —  यह बीज हम सिंचित और असिंचित दोनों क्षेत्रो में काम में ले सकते है | इसके पौधे की लम्बाई लगभग 90-100 सेंटीमीटर होती है जो कि मिटटी के उपजाऊ पन के हिसाब से कम ज्यादा हो सकती है | ग्वार की यह किस्म लगभग 80-100 दिन में पककर तैयार हो जाती है | इसका उत्पादन लगभग 6-8 क्विंटल / एकड़ के हिसाब से देखा गया है | यह बीज भी रोगों के प्रति रोग प्रतिरोधक होता है |
  5. HG – 365 —  यह भी प्रमाणित किस्म है जो की अनेक शाखाओ के साथ फैलती है | यह किस्म जल्दी पककर तैयार हो जाती है इसके पकने की अवधि लगभग 60-70 दिन की होती है | इस किस्म की पैदावार लगभग 18-19 क्विंटल / हेक्टयेर देखा गया है |
  6. RGC-1066 —  पिछले काफी समय से ग्वार की यह किस्म काफी किसानो की पसंद बनी हुई है | यह किस्म लगभग 70-80 दिनों की मध्यम अवधि में पककर तैयार हो जाती है | इस किस्म में रोग प्रतिरोधक क्षमता पाई जाती है | इसका उत्पादन 15-17 क्विंटल / हेक्टयेर लिया जा सकता है |
  7. लीडर जयनित सीड्स —  ग्वार की यह किस्म रेतीली और हल्की मिटटी के लिए महत्वपूर्ण मणि गयी है | इस किस्म के बेहतर परिणाम क साथ साथ इसके दाम भी बाजार में अच्छे मिलते है | इसकी पौध एक शाखा मे चलती है तथा ऊपर से निचे तक फलिया लगती है | यह किस्म 70-90 दिन में पककर तैयार हो जाती है | तथा इसका उत्पादन 5-7 क्विंटल /एकड़ देखने को मिलता है |
  8. RGC- 1017 —  यह भी ग्वार एक उत्तम किसम मणि गयी है जिसमे रोगों से लड़ने की क्षमता पाई जाती है | इस किस्म के पकने की अवधि 90-100 दिन तक होती है |यह किस्म कम वर्षा वाले क्षेत्रो में भी 10-14 क्विंटल /हेक्टयेर उपज देती है |
  9. तुलसी ग्वार सीड —  ग्वार की यह किस्म दीपक बायो सीड्स कम्पनी द्वारा तैयार की गयी किस्म है | जो कि काफी समय से किसानो की पसंद बनी हुई है | यह किस्म सिंचित और असिंचित दोनों क्षेत्रो में लगाई जा सकती है | यह फसल पकने में लगभग 80-90 दिन का समय लेती है |इसकी पैदावार लगभग 6-8 क्विंटल /एकड़ होती है |
  10. RGC – 1003 —  guar का यह बीज बहुत ही कम अवधि में पककर तैयार हो जाता है | जड़ गलन और ब्लाइट जैसे रोगों में यह किस्म उच्च सहनशीलता रखने वाली किस्म मानी गयी गई है | इस किस्म की पैदावार 15-18 क्विंटल/हेक्टयर तक ली जा सकती है |

दोस्तों अब बात करते है की इन किस्मो के आलावा ग्वार की अन्य टॉप उन्नत किस्मे कौनसी है ?

ग्वार की अन्य टॉप किस्मे – RGC – 417 , लीडर ग्वार सीड्स , तुलसी ग्वार सीड्स , RGC 197 , शक्ति 1 , मरु ग्वार , SUPER X 7 , TIGER GUAR SEED , FS 277 , GOPI GUAR SEED , HG 365 ग्वारकी अच्छी किस्मे मानी गयी है  |

नोट: यह जानकारी किसानो के अनुभव और इन्टरनेट पर उपलब्ध जानकारी के आधार पर दि गयी है अतः किसान साथियों से निवेदन है की बिजाई करने से पूर्व कृषि विशेषज्ञों से राय जरुर ले|

ग्वार की उन्नत किस्म । आज का ग्वार का भाव । Ncdex ग्वार भाव । ग्वार का टॉप बीज। Top gwar seed variety। ग्वार की किस्म । ग्वार का बीज । ग्वार की उन्नत किस्मे 2023

धन्यवाद टीम FARMING XPERT

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी