WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

Agri commodity news – रूस से भारत के सम्बन्ध आयात निर्यात रिकॉर्ड स्तर पर

Agri commodity news – भारत और रूस की गहरी दोस्ती को काफी बार रूस और भारत दोनों ने संकट के समय आपसी साथ दे कर निभाया है – इसी बिच अब रूस पर प्रतिबंधो के बावजूद भी भारत और रूस के मध्य आयात निर्यात रिकॉर्ड स्तर पर पहुँच चूका है |

Agri commodity news
Agri commodity news

रूस से कुल निर्यात इतना होने की उम्मीद –

रूस से अनाज का बेहतर निर्यात शानदार घरेलू उत्पादन एवं मजबूत वैश्विक मांग के सहारे मास्को रूस के राष्ट्रपति ने शानदार कृषि उत्पादन के लिए किसानों की प्रशंसा करते हुए कहा है कि वर्ष 2023 के अंत तक देश से अनाज का कुल निर्यात 600 लाख ( 6 करोड़) टन तक पहुंचाने का हर संभव प्रयास किया वैश्विक बाजार में मांग मजबूत जाएगा।

यह भी जाने – सरसों का भाव कब बढेगा यहाँ क्लिक करे | आज का ताजा अनाज मंडी भाव | गर्मी ने तोड़े रिकॉर्ड करे गेहू की फसल में यह काम

काफी है और देश में अनाज का विशाल अधिशेष स्टॉक मौजूद है इसलिए इसका निर्यात बढ़ाने में कोई समस्या नहीं होनी चाहिए। राष्ट्रपति का कहना था कि कुछ वर्ष पूर्व तक अनाज का इतना विशाल निर्यात होना परी कथा जैसा मालूम पड़ता था और कोई इसके बारे में सोच भी नहीं रहा था लेकिन रूसी किसानों के अथक परिश्रम एवं प्रयासों से अब यह संभव होने वाला है। ( Agri commodity news )

अमरीका एवं पश्चिमी देशों ने रूस पर लगा रखा है आर्थिक प्रतिबंध –

2022-23 के मौजूदा मार्केटिंग सीजन (जुलाईजून) के दौरान रूस में गेहूँ का उत्पादन बढ़कर एक नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया जबकि मजबूत वैश्विक माँग के कारण इसके निर्यात शिपमेंट की गति भी काफी तेज बनी हुई है। हालांकि अमरीका एवं पश्चिमी देशों ने रूस पर आर्थिक प्रतिबंध लगा रखा है लेकिन इसके बावजूद रूस से खाद्यान्न सहित अन्य कृषि उत्पादकों के निर्यात में कोई खास कठिनाई नहीं हो रही है। ( Agri commodity news )

भारत में रूस से अनाजो का आयात – Agri commodity news

भारत में रूस से भारी मात्रा में सूरजमुखी तेल का आयात हो रहा है।आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि चालू मार्केटिंग सीजन के दौरान रूस में खाद्यान्न एवं तिलहनों का सकल उत्पादन बढ़कर 16 करोड़ टन के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया जिसमें करीब 1050 लाख टन गेहूं का उत्पादन भी शामिल है जो अब तक का सबसे बड़ा उत्पादन है। कृषि बाजार भाव सर्विस उदयोग-व्यापार क्षेत्र के विश्लेषक टन तक पहुंच अमरीकी कृषि भी कुछ इसी तरह का अनुमान लगा रहे थे। कृषि मंत्रालय ने जनवरी में कहा था कि इस बार कृषि उत्पादों का निर्यात बढ़कर 550-600 लाख सकता है। उधर विभाग (उस्डा) ने चालू मर्केटिंग सीजन के दौरान रूस से गेहूं का कल निर्यात बढ़कर 435 लाख टन के नए रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने का के अनुमान लगाया है। इसके साथ साथ 90 लाख टन मोटे अनाजों के निर्यात की संभावना व्यक्त की है।

रूस से मक्का, जौ, जई, दलहन एवं तिलहन-तेल का भी भारी मात्रा में निर्यात होता है। इससे पूर्व वर्ष 2018 में रूस से 526 लाख टन अनाज का निर्यात हुआ था। चालू सीजन में जुलाई- नवम्बर 2022 के दौरान वहां से 244 लाख टन अनाज का शिपमेंट हो चुका था। मध्य फरवरी तक इसकी मात्रा 330 लाख टन पर पहुंच गई। यदि शिपमेंट की यह रफ्तार बरकरार रही तो रूस से कुल मिलाकर 580 लाख टन अनाज का निर्यात हो सकता है।Agri commodity news

व्यापार अपने विवेक से करे | हमारा उदेश्य सिर्फ किसानो तक जानकारी पहुँचाना है |

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी