WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना 2023 – देशी गाय की नस्ल पालने वाले किसानों को पुरस्कार मिलेगा

मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना 2023 –
कृषि में रसायन मुक्त फसल उत्पादन के लिए जैविक खेती को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिसके लिए केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा कई योजनाएं चलाई जा रही हैं। इन योजनाओं के तहत फसलों की गुणवत्ता में सुधार और उत्पादन क्षमता बढ़ाने के उद्देश्य से किसानों को जैविक खेती के लिए प्रेरित किया जा रहा है।मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना

रसायन मुक्त फसल उत्पादन और मिट्टी के स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए किसानों और अन्य पशुपालकों को देशी गाय पालन पर सब्सिडी भी मिल रही है। इस दिशा में एक नई पहल करते हुए मध्य प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना के तहत पूरे राज्य में एक नई पुरस्कार योजना लागू की है। यह पुरस्कार योजना मध्य प्रदेश के पशुपालन विभाग द्वारा चलाई जा रही है।

मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना
मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना

इस प्रतियोगिता के आयोजन का उद्देश्य देश और प्रदेश की उन्नत नस्ल की देशी गायों को बढ़ावा देना है। यह प्रतियोगिता मध्यप्रदेश पशुपालन विभाग द्वारा 21 फरवरी से 25 फरवरी तक आयोजित की जायेगी, जिसमें देश-प्रदेश मूल की देशी गायों एवं भारतीय उन्नत नस्ल की प्रतियोगितायें होंगी।

भारतीय उन्नत नस्ल की देशी गाय की प्रतियोगिता सभी 52 जिलों में होगी। अधिक दूध देने वाली देशी नस्ल की देसी गायों के मालिकों को अधिकतम 2 लाख रुपये तक का नकद पुरस्कार दिया जाएगा। भारतीय उन्नत नस्ल की गायों को पालने वाले पशुपालक इस प्रतियोगिता में भाग ले सकते हैं। मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना

ये इनाम देसी गाय प्रतियोगिता में दिए जाएंगे – मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना

यह भी जाने – क्या सरकार विवश होगी इन फसलो की खरीद के लिए | आज का वायदा बाजार भाव और रिपोर्ट | क्या खुला गेहू और उतारेगी सरकार बाजार में


मध्य प्रदेश के पशुपालन विभाग ने राज्य के देशी पशुपालन को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना के तहत मप्र की देशी नस्ल और भारत की उन्नत नस्ल की गायों के लिए पुरस्कार योजना लागू की है। इस योजना के तहत राज्य की मूल गोजातीय नस्ल और भारत की उन्नत नस्लों की दुधारू गायों की प्रतियोगिता होगी और उनके मालिकों को नकद पुरस्कार दिया जाएगा। ये प्रतियोगिताएं 1 से 15 फरवरी तक होंगी। नवीन पुरस्कार प्रतियोगिता में 201 जिला स्तरीय पुरस्कार दिए जाएंगे। जिसमें 45 राज्य की देशी गायों के लिए और 156 भारतीय उन्नत नस्ल की देशी गायों के लिए होंगी। साथ ही इस प्रतियोगिता में 6 राज्य स्तरीय पुरस्कार भी दिए जाएंगे।

प्रदेश के इन जिलों में होगी प्रतियोगिता


मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मध्यप्रदेश की मूल गोजातीय नस्ल और भारत की उन्नत नस्ल की दुधारू गायों की प्रतियोगिता प्रदेश के विभिन्न जिलों में आयोजित की जायेगी. इसमें 15 जिलों आगर, मालवा, शाजापुर, राजगढ़, उज्जैन, इंदौर, खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, बड़वानी, धार, दमोह, पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर और निमाड़ी में मध्यप्रदेश की देशी गाय नस्ल की प्रतियोगिता होगी। वहीं, भारतीय उन्नत नस्ल की देशी गाय की प्रतियोगिता प्रदेश के सभी 52 जिलों में होगी। इस प्रतियोगिता में अधिक दूध देने वाली गायों के मालिकों को पुरस्कार दिया जाएगा। मध्यप्रदेश की देशी गोजातीय नस्लों की मालवी, निमाडी एवं केंकथा नस्ल का दुग्ध उत्पादन प्रतिदिन 4 लीटर या इससे अधिक होना चाहिए। वहीं, भारतीय उन्नत नस्ल की गाय का दूध उत्पादन 6 लीटर या इससे अधिक होना चाहिए।मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना

अधिकतम दो लाख रुपये की राशि दी जाएगी


जिला स्तर पर आयोजित दोनों प्रतियोगिताओं में प्रथम पुरस्कार 51 हजार रुपये, द्वितीय पुरस्कार 21 हजार रुपये एवं तृतीय पुरस्कार 11 हजार रुपये होगा। इसी तरह राज्य स्तर पर प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार क्रमश: दो लाख, एक लाख व 50 हजार रुपये होंगे। यह पुरस्कार अधिक दूध देने वाली गायों के चरवाहों को दिया जाएगा। तीन पुरस्कारों के अलावा, शेष प्रतिस्पर्धी गायों के मालिकों को प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना – मैं इस प्रतियोगिता के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूं?


इस प्रतियोगिता में पशुपालन विभाग के कर्मचारी इच्छुक पशुपालकों से विकासखंड स्तर पर आवेदन लेंगे. सभी जिलों के आमला विकासखंड में इच्छुक पशुपालकों से आवेदन प्राप्त कर जिला स्तर पर उप निदेशक पशु चिकित्सा सेवा के पास जमा कराये जायेंगे. पुरस्कार के लिए सभी पशुपालकों की सूची पशुपालन विभाग की वेबसाइट पर गाय की नस्ल और दूध उत्पादन के साथ उपलब्ध होगी। अधिक जानकारी के लिए इच्छुक पशुपालक आधिकारिक वेबसाइट पर जा सकते हैं। इसके अलावा आपके जिले का पशुपालन विभाग, जिला स्तर पर उप निदेशक भी पशु चिकित्सा सेवा विभाग से संपर्क कर सकते हैं।मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना

राज्य की गायों की इन नस्लों के लिए प्रतियोगिता – मुख्यमंत्री पशुपालन विकास योजना


इस प्रतियोगिता में राज्य की मूल नस्ल की देशी गाय मालवी, निवाड़ी और केनकथा को शामिल किया गया है, जो राज्य की मूल पशु नस्ल की गायों के लिए विभिन्न जिलों में आयोजित की जाएगी।
आगर-मालवा, शाजापुर, राजगढ़, उज्जैन और इंदौर जिलों में मालवी नस्ल की गायों के लिए प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी।
निमाड़ी नस्ल की गाय के लिए खंडवा, खरगोन, बुरहानपुर, बड़वानी, धार जिलों में प्रतियोगिता कराई जाएगी।
वहीं, दमोह, पन्ना, टीकमगढ़, छतरपुर व निवाड़ी जिले में प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा.

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी