WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

जाने इस सप्ताह क्या गुल खिलाएगी सरसों ; सरसों भाव में तेजी या फिर चलेगी पिछली चाल sarson market view

sarson market view  – देश की विभिन्न मंडियों में सरसों की आवक 7.50 से घटकर 6.50 लाख बोरी के लगभग दैनिक रह जाने एवं तेल मिलों की से लॉरेंस रोड पर सरसों के भाव 25 रूपये बढ़कर 5200/5250 रूपए प्रति क्विंटल हो गए। जयपुर मंडी में 42 प्रतिशत सरसों के भाव 50 रूपये बढ़कर 5525 रूपये तथा आगरा में इसके भाव 5900 रूपये प्रति क्विंटल हो गए । आवक बढ़ने की संभावना को देखते हुए आने भविष्य में इसमें और अधिक तेजी की गुंजाइश नहीं है।

व्हाट्सएप्प ग्रुप में जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

तेल मिलों की मांग घटने से हाल ही में सरसों के भाव 300 रूपये प्रति कुंतल घट गए, उत्पादन अधिक होने की संभावना के भविष्य सरसों की कीमतों में लंबी तेजी की संभावना नहीं है।

समय-समय पर सरसों की तेजी मंदी के बारे में खबरें पढ़ने को मिलती रहती है इसी तारतम्य में ताज़ा सर्वे के अनुसार उत्पादक क्षेत्र से आवक बढ़ने तथा तेल मिलों की मांग घटने से लॉरेंस रोड पर सरसों के भाव मार्च माह के दौरान ऊपरी स्तर 300 रूपए घटकर 5150/5200 प्रति कुंतल रह गए।

सरसों का बाजार और भाव sarson market view

राजस्थान की मंडियों मे उठाव कमजोर होने से सरसों के भाव लूज में 4500/4600 रूपये प्रति कुंतल रह गए। जयपुर पहुंच में इसके भाव 5450 प्रति कुंतल बोलें गए । सरसों का उत्पादन राजस्थान उत्तर प्रदेश हरियाणा पंजाब गुजरात मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ इत्यादि राज्यों में होता है सरकार द्वारा सरसों का समर्थन मूल्य बढ़ाए जाने से किसानों का रूझान सरसों फसलों की तरफ बढ़ा है जिसके कारण चालू सीजन में सरसों के बिजाई का रकबा 100 लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में हो गया। 17 मार्च को संपन्न हुए 44 में रवि सेमिनार में चालू सीजन के दौरान देश में सरसों का उत्पादन अनुमान 123

सरसों का भाव बढेगा या घटेगा 2024

लाख टन के लगभग होने का लगाया गया है जबकि जबकि गत वर्ष इसका उत्पादन 113 लाख टनके लगभग हुआ था । देश के विभिन्न मंडियों में सरसों की आवक 8 लाख बोरी के लगभग दैनिक के हो रही है। उत्पादन अधिक होने के साथ-साथ पुरानी सरसों का बकाया स्टाक 12 लाख टन के आसपास होने की है। जिसके स्टाकिस्टों की बिकवाली का दबाव बना हुआ है

इसे भी जाने –

वर्तमान हालात को देखते हुए सरसों की कीमतों में ज्यादा तेजी की संभावना नहीं है। अगले माह से सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर सरकारी खरीद चालू हो जाएगी वर्तमान हालात को देखते हुए नए मालों की आवक का दबाव बढ़ने सरसों के भाव नीचे में 5200/5300 रुपए प्रति कुंतल बन सकते हैं उसके बाद बाजार सुधरने लगेगा।

सरसों खल का बाजार sarson market view

पशु आहार वालों की लिवाली कमजोर होने से सरसों खल के भाव 2450/2650 रूपये प्रति कुंतल पर सुस्त रहे। हालांकि उक्त अवधि के दौरान देश की विभिन्न मंडियों आवक आवाक घटने के कारण सरसों कीमतों में तेजी का रुख रहा। राजस्थान की मंडियों में सरसों खल के भाव 2490/2500 रूपये प्रति क्विंटल बोले गए। सप्लाई व मांग को देखते हुए इसमें ज्यादा घट-बढ़ की संभावना नहीं है।

किसान साथियो व्यापार अपने विवेक से करे . हमारा उदेश्य सिर्फ किसानो तक जानकारी पहुचाना है  ,किसान साथियो रोजाना मंडी भाव ,  खेत खलिहान , मौसम जानकारी ,खेती बाड़ी समाचार ,मनोरंजन ,खबरे , खेल जगत , फसलो की तेजी मंदी रिपोर्ट उक्त सभी प्रकार की जानकारी जानने  के लिए विजिट करे farming xpert की इस वेबसाइट पर , सबसे पहले सबसे स्टिक जानकारी

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी