WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

sarso ka bhav today – क्या सरसों का भाव बढ़ेगा सरकार बढ़ाएगी आयात शुल्क जाने स्पैशल रिर्पोट

सरसों का भाव – सरसों का भाव बढ़ेगा 2023 – किसान साथियों फिलहाल सरसो के किसानों ने उनकी फसल का उचित मूल्य नहीं मिलने पर आक्रोश बना हुआ है । आज की इस पोस्ट में जानेंगे सरसो का भाव कब बढ़ेगा 2023 । सरसों का भाव । सरसों में तेजी कब आयेगी । सरसो की साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट । इसलिए पोस्ट को पूरा पढ़े

किसान साथियों पिछले सप्ताह की शुरुवात सोमवार को जयपुर सरसो का भाव 5770 रु पर खुला था । और शनिवार को शाम 5625 रु पर बंद हुआ । पिछले सप्ताह के दौरान सरसों की मांग कमजोर रहने के कारण सरसो का भाव में 125 से 130 रु प्रति क्विंटल की गिरावट देखने को मिली थी । विदेशी बाजारों के नेगेटिव सेंटीमेंट ने भारतीय घरेलू बाजार में सरसों के भाव पर दवाब बनाया। बेमौसमी बारिश और कुछ जगहों पर ओलों की वजह से कई राज्यों में सरसों की फसल सहित अन्य फसलों में किसानों को काफी नुकसान हुआ है ।

सरसों का भाव बढ़ेगा 2023

इस सीजन में लगातार मौसम में परिवर्तन की वजह से सरसो के उत्पादन का अनुमान आगे चल कर थोड़ा और कम हो सकता है । सरसो में निचले सत्तर पर हल्की रिकवरी देख कर किसानों ने बिकवाली को बढ़ाया । बिकवाली के बढ़ने से सरसों की दैनिक आवक देशभर ने बढ़ कर 12.25 लाख बोरियो तक आ पहुंची । खल की मजबूत मांग ने अब तक सरसो के भाव को सहारा दिया । जिससे निचले स्तर से सरसो में 200 से 250 रु की बढ़ोतरी सरसों में देखने को मिली थी ।

Sarso ka bhav – सरसों भाव में तेजी कब आयेगी

किसान मित्रो ऊपरी स्तरों पर खल में भी मांग अटकी हुई है । जिसके कारण सरसो की मांग भी अटक गयी। और विदेशी बाजारों का भी समर्थन नहीं मिल रहा है । पैरिटी न होने और सरसो तेल में गिरावट की वजह से मीलों की मांग ऊपरी स्तरों पर कमजोर बनी हुई है । गत वर्ष सरसो तेल , सोया तेल से ऊपर होने के कारण सरसो की क्रशिंग मार्च 2022 में 16 लाख टन दर्ज की गई थी । इस साल 2023 में सोयाबीन तेल सरसो के तेल से नीचे चल रहा है । जिसके कारण क्रशिंग में कमी हो कर मार्च 2023 में सिर्फ 10 लाख टन होने का अनुमान है । सरकारी खरीददारी से सरसों के भाव को थोड़ा स्पोर्ट तो मिल जायेगा लेकिन किसान मित्रो सरसों के तेल की कीमत घटने से मीलों की डिस्पेयरिटी और बढ़ेगी। सरसों का भाव बढ़ेगा

प्याज भंडारण सब्सिडी – किसानों को दिया जा रहा है 90 हज़ार का अनूदान

ग्वार की उन्नत किस्मे 2023 ग्वार बीज की टॉप वेराइटी GUAR KI TOP VERIETY

इसीलिए इस वक्त जरूरी है की सरकार अब आयात हो रहे तेलों पर इंपोर्ट ड्यूटी ( आयात शुल्क ) में बढ़ोतरी करे । जिससे भारतीय घरेलू बाजार को थोड़ा स्पोर्ट मिले। विदेशी बाजार की चाल और सरकार द्वारा सरसों की खरीददारी से सरसों भाव में अब दोनो तरफ से कारोबार होता हुआ नजर आ सकता है । जयपुर सरसों भाव का बॉटम 5380 रु के करीबन बन चुका है । इसलिए व्यापारी गिरावट में खरीददारी कर रहे है । सरकारी खरीद दारी और मिली की मांग निकलने से इस सीजन में सरसों के भाव में ऊपर तक 6000 रु तक जा सकता है । इसके ऊपर अधिक तेजी के लिए सरकार को आयात शुल्क में बढ़ोतरी और सरसों का वायदा बाजार शुरू करना चाइए ।

सरसों खल का भाव : तेजी नहीं पशु आहार वालों की मांग

किसान साथियों मांग सुधरने तथा आपूर्ति घटने से सरसों खल के भाव 2500/2700 रूपए प्रति क्विंटल पर मजबूत रहे। फिलहाल बिकवाली घटने से उत्तर प्रदेश के मंडी में सरसों खल की कीमतों में तेजी का रुख रहा है । हाल ही में सरसों के भाव ऊपरी स्तर से काफी नीचे आ गए। आने वाले दिनों में आपूर्ति बढ़ने की संभावना को देखते हुए इसमें तेजी की उम्मीद नहीं है बाजार सीमित दायरे में घूमता रह सकता है। व्यापार अपने विवेक से करें

आज का सरसों का भाव । सरसों का भाव आज का । Sarson ka bhav today। Sarso ka bhav Aaj ka। । Aaj ka sarson bhav । आज का सरसों का भाव । सरसों में तेज़ी कब आयेगी। सरसों का भाव कब बढ़ेगा। सरसों का भाव बढ़ेगा

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी