WhatsApp Channel Join Now

राजस्थान प्रदेश में लागू हुआ नया कृषि मंडी कानून ;क्या फिर खड़ा होगा राजस्थान में विशाल किसान आंदोलन

नमस्कार किसान साथियो राजस्थान में नया कृषि मंडी कानून लागू होने के कारण राज्य में 10 जुलाई से फिर एक और किसान आंदोलन खड़ा होगा . आज की इस पोस्ट में जानेगे क्या है खबर और पूरा मसला . इसलिए पोस्ट को पूरा जरुर पढ़े

नोट – किसान साथियो हमारा उदेश्य सिर्फ जानकारी पहुँचाना है किसी भी राजनैतिक दल का समर्थन करना नहीं है .

इस चारे को एक बार लगाकर पशुओ को 5 साल तक खिलाये फिर भी ख़त्म नही होगी

क्या सरसों के भाव में फिर आएगा उछाल देखे सरसों स्पेशल तेजी मंदी रिपोर्ट 2023

दिल्ली में चले विशाल किसान आंदोलन के समय किसानो को समर्थन देने वाले राजस्थान राज्य की सरकार ने अपने ही प्रदेश में नया कृषि कानून लागु कर दिया है . जिसके कारण मंडियो के दायरे से बहार बिना टैक्स चुकाए व्यापार के अंदर छूट प्रदान की गयी है .जिसके कारण मंडियो के अंदर की हालत अब ख़राब होती जा रही है .जिसके कारण कृषि अनाज मंडियो को काफी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है .जिसका विरोध राजस्थान में अभिनव पार्टी के द्वारा किया जा रहा है और अभिनव पार्टी के प्रमुख सचिव ने प्रदेश में विशाल किसान आंदोलन खड़ा करने की बात कही है .

राजस्थान में किसान आंदोलन और क्या है नया कृषि मंडी कानून –

राजस्थान में इस आंदोलन की शुरुवात 10 जुले को नागौर जिला मुखालय से करने जा रही है .अभिनव पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष डॉक्टर अशोक चोधरी ने मिडिया से बात चित में बताया की अधिकतर लोगो को यह गलत फहमी है की केंद्र सरकार की और से जून 2020 में पारित किए गए तिन कृषि विवादित कानून वापिस ले लिए है .जबकि हकीकत यह है की राजस्थान के अंदर यह तीनो कृषि कानून लागू किये जा चुके है . आंदोलन को लेकर किसानो के समर्थन में रहने वाली राजस्थान की सरकार ने किसानो और काश्तकारो के साथ धोका किया है .

आखिर क्यों जरुरी है जैविक खेती जैविक खेती का महत्त्व जानिए भारत में जैविक खेती का भविष्य

मिर्च की खेती में ध्यान रखे ये बाते कमाई होगी लाखो में

डॉक्टर ने कहा है की अगर ऐसा ही हाल रहा तो प्रदेश की मंडिया उजड़ जाएगी .और किसान की उपज को मनमाने ढंग से खरीदा और बेचा जायेगा .

अस्वीकरण – किसान साथियो यह जानकारी राजस्थान की अभिनव पार्टी के द्वारा प्रदान की गयी है . हमारा किसी भी प्रकार का व्यक्तिगत विचार नहीं है . हमारा उदेश्य आप तक खेती से जुडी हर जानकारी प्रदान करना है .हम किसी प्रकार के राजनेतिक दल का समर्थन नहीं करते है . धन्यवाद जय जवान जय किसान