WhatsApp Channel Join Now

ये फसल करेंगी किसानों की चांदी जानिए किस फ़सल में तेज़ी आयेगी तेज़ी मंदी रिपोर्ट

तेज़ी मंदी रिपोर्ट ! Teji mandi report 2023 ! आज का मंडी भाव ! चना उड़द मूंग राजमा जानेंगे कौनसी फ़सल में क्या रुझान रहेंगे!

नमस्कार किसान साथियों ! Farming xpert एकमात्र ऐसा प्लेटफार्म जो यूट्यूब फेसबुक वेबसाइट तीनों डिजिटल प्लेटफॉर्म के माध्यम से! किसानों तक 48 कमोडिटी रेट की तेजी मंदी रिपोर्ट के साथ-साथ, मंडी भाव ,खेती समाचार और अन्य जानकारी आपको उपलब्ध करवाता है! इसलिए नई जानकारी के लिए वेबसाइट पर विजिट करते रहे !

तेज़ी-,मंदी रिर्पोट

फसलों की तेज़ी मंदी समीक्षा

राजमा ज्यादा तेजी नहीं आएगी

राजमां चित्रा का स्टाक ज्यादा नहीं है, लेकिन खपत के अनुरूप माल हल्के भारी कई किस्म के आ रहे हैं। पुणे, सतारा, वाई, खटाव लाइन में बरसात से फसल दागी हुई है, लेकिन बिजाई अधिक होने से 2 लाख बोरी से अधिक माल हल्का भारी माल आने का अनुमान है, जो बढ़िया माल को भी 2-4 दिन बाद इस बार उठने नहीं देगा । इधर ब्राजील में राजमां चित्रा की बिजाई अधिक होने से उत्पादन भी जबरदस्त हुआ है, पिछले दिनों बाजार वहां बढ़ाकर बोल रहे थे, लेकिन इन सारी परिस्थितियों को देखते हुए राजमां चित्रा में स्टॉक का व्यापार नहीं करना चाहिए।

काबुली चना- बाजार यहां पुन: तेज होगा

काबुली चने की कोई निकट भविष्य में फसल आने वाली नहीं है ! इसकी बिजाई एमपी, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक में हो चुकी है। पिछले महीने कुछ क्षेत्रों में लगातार बरसात होने से बिजाई 10 दिन देर तक चली है, लेकिन खेतों में नमी होने से बिजाई अधिक होने की चौतरफा खबरें मिल रही है! फिलहाल हाजिर में माल की कमी होने एवं आयात पड़ता महंगा होने से 200 / 400 रुपए की मीडियम माल में तेजी लग रही है तथा बढ़िया माल 400 रुपये और तेजी की संभावना दिखाई दे रही है। तेज़ी मंदी रिपोर्ट

लाल मिर्च जीरा अजवाइन सौंठ तेजी मंदी यहां क्लिक करें

मूंग- फिर बाजार में तेजी संभव

विदेशों से मूंग के आयात के कोई पड़ते नहीं लग रहे हैं ! दूसरी ओर राजस्थान के अलावा और किसी भी राज्य की मूंग का स्टॉक नहीं है तथा नई फसल कोई आने वाली नहीं है। महाराष्ट्र के अकोला, जलगांव, खामगांव लाइन की मूंग पहले ही तेज बिक रही है। टेंडर वाले माल पिछले दो दिनों कुछ आए हैं जिससे बाजार में करेक्शन आया है, लेकिन उसकी भी बिकवाली ज्यादा घटा करना नहीं हो रही है ! जिससे बाजार तेज लग रहा है, उधर जलगांव वाले पाइप लाइन में माल नहीं होने से खामगांव, परभणी लाइन से माल खरीद रहे हैं, इन परिस्थितियों में बढ़िया मूंग अभी 6500 से 7200 रुपए प्रति क्विंटल के बीच तेज ही रहेगी ! हल्के माल बाजार में निपट चुके हैं।

18 पोते पोतियों वाली दादी ने रचाई 24 साल के लड़के से शादी अब ? यहां क्लिक करें

देसी चना- जनवरी माह में तेजी संभव

सरकार द्वारा देसी चना, मंडियों भाव में सस्ते भाव में अब नहीं बेचा जा रहा है ! क्योंकि पिछले दिनों आने वाले माल में डस्ट ज्यादा एवं दानें छोटे होने से दाल मिलों को राजस्थानी माल की मिलिंग पर पड़ता लग रहा था! चालू सप्ताह के अंतराल 50 रुपए की नरमी पर 5050 रुपए लॉरेंस रोड पर खड़ी मोटर में व्यापार हो गया! आगे के लिए भी वर्तमान भाव पर व्यापार करते रहना चाहिए।

मोठ बाजार समीक्षा

एक सप्ताह के अंतराल मोठ में 100/200 रुपए की नरमी पर 6150/6200 रुपए प्रति क्विंटल का व्यापार हुआ! वास्तविकता यह है कि मोठ का उत्पादन चौतरफा राजस्थान में बढ़िया हुआ है! पिछले वर्ष की रिकॉर्ड तेजी को देखकर कारोबारी 5350 रुपए नीचे में एक महीने पहले बनते ही लिवाली में आ गए ! जिसके चलते बाजार 6500 रुपए देखा आया है! इसलिए वर्तमान भाव पर स्टाक की बजाए अपना माल बेचते रहना चाहिए!

तुवर- में अब मंदी को विराम संभव

तुवर की आपूर्ति घटने के बावजूद चेन्नई में आयातकों की घबराहट पूर्ण बिकवाली से ऊपर के भाव से काफी मंदा आ गया ह ! वहां 6750 में लेमन तुवर के भाव बोल रहे हैं ! यही कारण है कि यहां भी गिरकर भाव 7350 रह गए हैं! जबकि इन भाव में लिवाल बिकवाल दोनों नहीं है! बाजार में छिटपुट व्यापार 7375 रुपए में हुआ है ! महाराष्ट्र कर्नाटक दोनों ही राज्यों की फसल में कम है ! इसलिए यहां से फिर बढ़ने के आसार दिखाई दे रहे हैं तथा निकट में कोई फसल आने वाली नहीं है यह केवल ग्राहकी का मंदा है।

ट्रैक्टर पर 3 लाख रुपए सब्सिडी यहां क्लिक करें

उड़द- अब और नहीं घटेगी

तेज़ी मंदी रिपोर्ट

उड़द का स्टॉक ज्यादा नहीं बचा है तथा आयात पड़ता महंगा लग रहा है! इधर मौसम प्रतिकूल होने से रंगून की उड़द पड़ते में शिपमेंट नहीं हो रही है ! इन परिस्थितियों में उड़द के वर्तमान भाव लाभदायक लग रहे हैं! चालू सप्ताह के अंतराल 200 रुपए घटने के बाद 100 रुपए बढ़कर 7700 रुपए प्रति क्विंटल एसक्यू क्वालिटी के हो गए हैं! उड़द एफ ए क्यू के भाव भी 7000 रुपए बोलने लगे हैं! हाजिर माल की उपलब्धि खपत के अनुरूप नहीं होने से बाजार आगे अभी फिर तेज लग रहा है।

मसूर आयात पड़ता महंगा हुआ teji mandi report

पिछले दिनों मसूर में 100/150 रुपए प्रति क्विंटल की गिरावट आ गई है! वास्तविकता यह है कि एक सप्ताह में डॉलर महंगा हो गया है, जिसके चलते आयातकों को हाजिर सौदे करने में कनाडा एवं ऑस्ट्रेलिया से बेपड़ता हो गया है! तथा वहां पर हाल ही मैं कुछ भाव बढ़ा कर बोलने लगे हैं! यही कारण है कि यहां कनाडा की मसूर 6150/6175 रुपए से नीचे बेचू नहीं आ रहे हैं। बिल्टी में भी मसूर के भाव 6625/6650 रुपए बोल रहे हैं ! मुंगावली, गंजबासौदा, सागर लाइन में बिजाई अधिक होने के साथ-साथ फसल बढ़िया है! राजस्थान में भी पूरी हो गई है, लेकिन फसल आने में दो महीने का समय बाकी है! जिससे मसूर में यहां से मंदे को विराम लग रहा है!

खाद्य सुरक्षा योजना में हुआ बदलाव यहां क्लिक करें

बाजार खबर और माहौल यहां क्लिक करें

अपील- किसान साथियों व्यापार अपने विवेक से करें। किसी भी प्रकार के वित्तीय निवेश से पहले अपने वित्तीय सलाहकार से सलाह जरूर लें ! हमारा उद्देश्य सिर्फ किसानों तक सटीक जानकारी पहुंचाना है!