WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Facebook Page (70k) से जुड़े Follow
Whatsapp Channel से जुड़े Follow Now

 

काबुली चना भाव – विदेशों में भारी मांग निकलने से के काबुली चना का निर्यात बढ़ने संकेत

वैश्विक बाजार में आपूर्ति एवं उपलब्धता की स्थिति जटिल रहने या यूं कहें कि वैश्विक पाइपलाइन खाली होने से भारतीय काबुली चना की मांग काफी बढ़ गई है। कृषि बाजार भाव सर्विस व्यापार विश्लेषकों के अनुसार 2021-22 सीजन की तुलना में 2022-23 सीजन के दौरान देश से काबली चना के निर्यात में दोगने से ज्यादा की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई जबकि 2023-24 सीजन में भी इसका शानदार निर्यात होने की उम्मीद है।

काबुली चना भाव
काबुली चना भाव

इससे कीमतों में तेजी-मजबूती का माहौल बना रह सकता है। वैसे पिछले साल की तुलना में चालू वर्ष के दौरान काबुली चना का उत्पादन बेहतर होने की उम्मीद है। नई फसल की कटाई तैयारी एवं मंडी में आवक आरंभ हो चुकी है

तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 – गेंहू मक्का चावल बाजरा कौनसी फसल कब लेगी उछाल

ncdex जीरा वायदा ग्वार भाव धनिया सोना चांदी सभी भाव ncdex live rates today

वाणिज्यिक सतर्कता एवं संख्यिकी महानिदेशालय (डीजीसीआईएस) के आंकड़ों से पता चलता है कि संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) एवं श्रीलंका जैसे देशों की मजबूत मांग के कारण अप्रैल 2022 -जनवरी 2023 के दस महीनों में देश से काबली चना का निर्यात बढ़कर 11.20 करोड़ डॉलर से ऊपर पहुंच गया जो वित्त वर्ष 2021-22 की समान अवधि की निर्यात आय 4.647 करोड़ डॉलर के दोगुने से भी ज्यादा है।

काबुली चना की मांग और उत्पादन 2023 – काबुली चना भाव

farming xpert के अनुसार एक तरफ वैश्विक पाइपलाइन खाली है तो दूसरी ओर रमजान का महीना जल्दी शुरू हो जाने से काबुली चना ( काबुली चना भाव )की माँग काफी बढ़ गई। 12 मि०मी० के बोल्ड एवं बड़े दाने वाले काबली चना की भारी मांग बनी हुई है। विश्लेषकों के अनुसार भारत और मैक्सिको बोल्ड वैरायटी के काबली चना के दो मुख्य उत्पादक देश हैं मैक्सिको में नई फसल की कटाई-तैयारी अप्रैल में शुरू होगी और वहां फसल इस बार गत वर्ष से कम उतरने की संभावना है

aaj kapas ka bhav – नरमा कपास के भाव में फिर लौटी रोनक जाने आज नरमा कपास का भाव

wheat news – गेंहू के रेट में आई कमजोरी जाने आज देशभर में गेंहू का भाव

जबकि वहां इसका पिछला बकाया स्टॉक भी कम है। इससे भारत को प्रत्यक्ष तौर पर भारी फायदा हो सकता है। काबली चना की वैश्विक मांग इतनी ज्यादा मजबूत है कि छोटे दाने वाले माल का भी बेहतर कारोबार हो रहा है। महाराष्ट्र में 8 मि०मी० आकार वाले काबुली चना का इस बार अच्छा उत्पादन हुआ है और वहां से इसका नियमित निर्यात भी हो रहा है।

इसके फलस्वरूप कोल्ड स्टोरेज या स्टॉक में काबली चना ( काबुली चना भाव ) नहीं जा रहा रहा है बल्कि पीछे निर्यात एवं खपत में इसका उपयोग हो रहा है। एक अन्य विश्लेषक के मुताबिक दुबई तथा अल्जीरिया से नई मांग निकल रही है जबकि हाल की प्राकृतिक आपदाओं से फसल को नुकसान की आशंका से कीमतों में मजबूती बनी हुई है। पहले काबुली चना का उत्पादन गत वर्ष से अधिक होने की उम्मीद की जा रही थी।

किसान साथियो व्यापार अपने विवेक से करे धन्यवाद जय जवान जय किसान

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी