WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

लीची की खेती पर सरकार दे रही है 50 फीसदी सब्सिडी यहाँ से करे आवेदन

बागवानी की खेती को प्रोत्साहित ( लीची की खेती ) करने के लिए सरकारी विभिन्न प्रकार की योजनाएं चल रही है उद्यान विभाग लगातार किसान साथियों को बागवानी फसलों की खेती करने के लिए जागरुक कर रही है।  यानी साथियों बागवानी की खेती में बचत ज्यादा है । जिसके कारण सरकार सब्सिडी जैसी विभिन्न योजनाएं लेकर के आ रही है।

इसी कड़ी के अंदर सरकार ने फिलहाल लीची जैसी फसलों के उत्पादन को और अधिक बढ़ावा देने के लिए साथ में किसानों की आमदनी में बढ़ोतरी करने के लिए 50 फिसडीह सब्सिडी देने का प्रावधान किया है। किसानों को अन्य फसलों और अनाजों की खेती से ज्यादा मुनाफा नहीं हो पाता खेती घाटे का सौदा दिन प्रतिदिन बनती जा रही है।  यही वजह है कि मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के माध्यम से किसानों की मदद करने के लिए सरकारें आगे आ रही है योजना के तहत सरकार किसानों को एक हेक्टेयर में फलदार पेड़ पौधे लगाने पर सब्सिडी दे रही है।

आज की इस पोस्ट में जानेंगे किन-किन फसलों की खेती पर मिलेगा अनुदान किन किस साथियों को मिलेगा आवेदन कैसे करना है सभी प्रकार की जानकारी आज की इस पोस्ट के अंदर दी गई है।

Wheat News Today ; गेंहू का अगला टेंडर 23 को क्या मंडियो में तेज होगी गेंहू

Guar news today हाजिर में गम कमजोर ;वायदा में उठापटक क्या 2011 की तरह रंग खिलायेगा ग्वार

Sarso News 2023 ; बिकवाली हुई कमजोर देखे क्या सरसों के भावो में होगा फेरबदल

इन फसलों पर मिलेगा किसानो को अनुदान

किसान साथियों बिहार सरकार की मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के माध्यम से लीची की फसल पर सब्सिडी दे रही है।  इसके अलावा आंवला अमरूद आम कटहल और किला जैसी फसलों पर खेती करने के लिए सब्सिडी प्रदान की जा रही है।  यानी किसान साथियों कुल मिलाकर देखा जाए तो फलदार वृक्ष या खेती करने के लिए सरकार अनुदान दे रही है।  सरकार का लक्ष्य बागवानी क्षेत्र के रकबे में विस्तार करना और आधुनिक खेती को बढ़ावा देना रखा गया । है फिलहाल बिहार सरकार द्वारा कम से कम 50 हेक्टेयर में आम और 33 हेक्टेयर में लीची का लक्ष्य निर्धारित किया है।

किसानों को अनुदान के लिए आवश्यक योग्यता और पात्रता

मुख्यमंत्री बागवानी मिशन योजना के माध्यम से बिहार के किसानों को इस योजना का मुख्य तालाब प्रदान किया जाएगा । बिहार के वैसे किस जो राज्य के प्रमुख मूल निवासी है।  उनका मूल निवास प्रमाण पत्र साथ में खेती के लिए जमीन की जमाबंदी इस योजना के लिए आवश्यक मानी गई है।

योजना के तहत बागवानी मिशन के अंतर्गत सब्सिडी के लिए आवेदन करने पर किसानों को लीची और अन्य फसलों की खेती के लिए 50 फ़ीसदी तक अनुदान दिया जाएगा।  यह अनुदान किसान साथियों अधिकतम 1 हेक्टेयर के लिए ही मिलेगा जो कि आप ₹62500 मान सकते हैं । अनुदान को तीन किस्तों के माध्यम से किसान तक पहुंचाया जाएगा । पहले वर्ष 60 फ़ीसदी दूसरे साल के लिए 20% और अंतिम वर्ष तीसरे साल के लिए 20% की राशि किसान के खाते में पहुंचाई जाएगी । यह अनुदान राशि किसानों को तब प्रदान की जाएगी जब पौधे 80 से 90 तक सुरक्षित होंगे अगर पौधे 80 से 90% तक सुरक्षित नहीं है तो किसान अनुदान योजना के लिए पात्रता खो देंगे।

योजना के लिए आवश्यक कागजात किस साथियों इस योजना के अंदर आवेदन करने के लिए कुछ जरूरी कागजातों की आवश्यकता होगी।  जैसे किस का आधार कार्ड किसान का पंजीकरण संख्या पासपोर्ट साइज की फोटो मोबाइल नंबर जो की आधार से लिंक हो ईमेल आईडी यदि उपलब्ध हो तो

लीची की खेती पर सब्सिडी के लिए यहां से करें आवेदन

किसान साथियों राज्य में हरियाली के साथ-साथ पेड़ पौधों की संख्या में जफा करने और किसने की आय के अंदर वृद्धि करने के लिए किसान बिहार हॉर्टिकल्चर विभाग के माध्यम से आप आवेदन कर सकते हैं।  इस योजना में आवेदन करने के लिए आपको www.hotriculturebihar.gov.in पर आप अपना आवेदन जमा करवा सकते हैं। किसान साथियों आवेदन ऑनलाइन जमा किया जाएगा इसके पश्चात विभाग के द्वारा आवेदनों को स्वीकृति देकर आगे की प्रक्रिया को बढ़ाया जाएगा

किसान साथियों खेती-बाड़ी और की शादी से जुड़ी हर प्रकार की जानकारी जानने के लिए फार्मिंग एक्सपर्ट की इस वेबसाइट पर विजिट जरूर करें।  अन्य जानकारियों के लिए आप हमारे यूट्यूब और फेसबुक पेज फार्मिंग एक्सपर्ट के प्लेटफार्म से जुड़ सकते हैं धन्यवाद जय जवान जय किसान जय किसान

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी