WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

कपास की उन्नत किस्में के साथ करे कपास की खेती

कपास की उन्नत किस्में – नमस्कार किसान साथियो आज की इस पोस्ट में जानेगे कपास की नयी और उन्नत किस्मो के बारे में

 कपास की उन्नत खेती के लिए टॉप और नई उन्नत कपास की किस्म

किसान साथियो देश और प्रदेश की नकदी फसलो की अगर बात की जाये तो कपास का अपना एक महवपूर्ण स्थान है  | हरियाणा में लगभग किसान मित्रो 7 लाख हेक्टेयर में कपास की बिजाई होती है  | वही अगर हरियाणा में कपास की औसत पैदावार को देखा जाये तो 6-8 क्विंटल प्रति एकड़ उपज मिलती है | लेकिन कई परगतिशील किसानो ने क्रषि की उन्नत तकनीके अपना कर 10 से 12 क्विंटल प्रति एकड़ तक पैदावार भी ली है और ले रहे है | किसान साथियो आप भी उन्नत किस्मो और उन्नत खेती को अपना कर अच्छा खाशा मुनाफा कपास की खेती से ले सकते है | आज की इस पोस्ट में जानेगे कपास की उन्नत किसम और कुछ नयी किस्मो के बारे में |

कपास की उन्नत किस्में
कपास की उन्नत किस्में

कपास की  उन्नत किस्म –

कपास के कुल रकबे में से 98 फीसदी रकबा bt cotton के अंतर्गत आटा है | उअत्त्र भारत में बी टी नरमा प्राइवेट कंपनियों के द्वारा तयार की जाती है | अत किसान मित्रो अपने राज्य के कृषि विश्वविधालय से सम्पर्क कर उतम बिज के बारे में जानकारी ले सकते है |

यह भी पढ़े – आज का नरमा कपास का भाव

आज का सरसों का ताजा भाव यहाँ क्लिक करे

सरसों तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 यहाँ क्लिक करे

विश्वविधालय द्वारा तयार यानि विकसित की गयी अमेरिकन कपास / नरमा की उन्नत किस्म

किस्म –H 1098

पैदावार – औसत पैदावार 8-8.5 तथा अधिकतम 15.0 क्विंटल प्रति एकड़ है |

विशेषता – इसके टिंडे बड़े होते है  | इस किस्म में रुई की मात्रा 39.9 फीसदी पाई जाती है | इसमें पत्ता मरोड़ रोग कम आता है |

विश्वविधालय द्वारा विकसित देसी कपास की किस्म –

 किस्म – HD 123

पैदावार – औसत पैदावार 8- 9 क्विंटल प्रति एकड़ तथा अधिकतम पैदावार 12.9 क्विंटल ह |

विशेषता – इसमे किसान मित्रो रुई की मात्रा 39.2 फीसदी पाई जाती है  | इसका रेशा 14.7 mm लम्बा होता है |

 किस्म  – HD 432

पैदावार – औसत पैदावार 8-9 क्विंटल प्रति एकड़ तथा अधिकतम पैदावार 15.5 क्विंटल प्रति एकड़ पाई जाती है 

विशेषता – इसमे रुई की मात्रा 39.2पाई जाती है | इसका रेशा 21.2 mm लम्बा है |

विश्वविधालय द्वारा विकसित देसी कपास की संकर किस्म –

किस्म – AAH-1

पैदावार – औसत पैदावार 9.5 तथा अधिकतम 19.2 है |

विशेषता – इस किस्म में रुई की मात्रा 38.0 फीसदी पाई जाती है इसका रेशा 18.4 mm लम्बा है |

किसान साथियो प्रति वर्ष हरियाणा कृषि विश्वविधालय द्वारा बी टी नरमा की संकर किस्मे जाँच के आधार पर विकसित की जाती है | किसान मित्रो को सुझाव दिया जाता है | की कृषि विश्वविधालय द्वारा सिफारिश की गयी बी टी नरमा की संकर किस्म ही लगाये |

जानिए किस फसल में आएगी तजी और किस्मे आएगी मंदी यहाँ क्लिक करे

कृषि मंत्री का गेहू पर बड़ा बयान यहाँ क्लिक करे

नरमा कपास की नई किस्मे –

एच -1098 आई –

बिजाई का समय – 15 से 25 मई

पकने का समय – 165 से 170 दिन

टिंडे का वजन – 4.0 – 4.1 ग्राम

औसत पैदावार – 26.55 क्विंटल प्रति हेक्टेयर

रुई की मात्रा – 39.6 फिसदी

रेशे की लम्बाई – 24.8 mm

किस्म – एच 1236

बिजाई का समय – 1-15 मई

पकने का समय – 170-175 दिन

टिंडे का वजन – 3.9 – 4.0 ग्राम

औसत पैदावार –19.8 क्विंटल प्रति हेक्टेयर

रुई की मात्रा –37.8 फीसदी

रेशे की लम्बाई – 27.2  mm

किस्म – एच – 1300

रेशे की लम्बाई – 25.0 mm

रुई की मात्रा – 36.3 फीसदी

औसत पैदावार – 22.91 किन्टल प्रति हेक्टेयर

टिंडे का वजन – 3.6 – 3.8 ग्राम

पकने का समय – 165 – 170 दिन

बिजाई का समय – 10 से 25 मई

अपील – किसान साथियो बिज का चुनाव अपने विवेक से करे

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी