WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

गेंहू में बिकवाली का दवाब देखे गेंहू मक्का और बाजरा की साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट कौनसी फसल कब लेगी उछाल

नमस्कार किसान साथियो आज की पोस्ट में जानेगे गेंहू में बिकवाली दवाब , मक्का का बाजार और बाजरा की साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट , कौनसी फसल में क्या चल रहा है और कब किस फसल में तेजी की सम्भावना है

बाजरा का भाव – समीक्षा (धीमेपन की कोई गुंजाइश नहीं)

मक्का और गेहूं की कम कीमतों का असर बाजरे की तेजी पर भी पड़ा है। बाजरे का कारोबार कम हो गया है, क्योंकि ज्यादातर माल पोल्ट्री फीड मिलों में जा रहा है, केवल मक्का और गेहूं ही निम्न गुणवत्ता का है। यही कारण है कि बाजरा मौली बरवाला 2040/2060 रुपये प्रति क्विंटल पर सुस्त चल रहा है। हमारा मानना है कि बाजरे की साठी फसल हाथरस लाइन में आ गई है, लेकिन 2020/2030 रुपये प्रति क्विंटल की बिक्री के कारण कीमत में गिरावट नहीं दिख रही है। इसलिए अभी भी ज्यादा मंदी वाला कारोबार नहीं करना चाहिए।

भारी बारिश से डूबा रेलवे ट्रैक 5 संभागों में जोरदार बारिश का अलर्ट जारी – Imd alert

धान की फसल में लगने वाले रोगों से ऐसे करे बंचाव ,धान की फसल में लगाने वाले किट और उपचार

मक्का का भाव – समीक्षा (स्टार्च मिलों की खरीद के कारण वृद्धि

पिछले 10 दिनों में मक्के में 100 रुपये प्रति क्विंटल की तेजी के बाद बाजार में मंदी आ गई है क्योंकि कीमतें कम होने से उत्पादक मंडियों से प्रतिस्पर्धी खरीदारी लगातार बढ़ गई है। बिहार में जो रैक लगे थे वो पूरे हो चुके हैं और अब बिहार की मंडियों में आवक कम होने लगी है, नमी वाले माल रिजेक्ट होने लगे हैं. अभी बिहार का व्यापार गिरावट में चल रहा है, लेकिन नमी वाले माल की आवक अधिक होने के कारण वह संभल नहीं पा रहे हैं, ऐसे में गुणवत्ता वाले माल में तेजी आने वाली है, इन परिस्थितियों को देखते हुए कोई संभावना नहीं है यहां से मक्के में कमी की गुंजाइश है. अंतरराष्ट्रीय बाजारों में कीमतें ऊंची हैं, जिससे बाजार में और तेजी आएगी.

गेंहू में बिकवाली दवाब – समीक्षा (उत्पादक बाजारों में खरीदार गायब)

सरकार द्वारा गेहूं पर स्टॉक लिमिट लगाने और बफर स्टॉक से माल खुले बाजार में बेचने के कारण चारों तरफ जरूरत के हिसाब से माल खरीदा जा रहा है. इधर, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ की मंडियों में जो गेहूं 2325/2350 रुपये प्रति क्विंटल बिक रहा था, वह 2250/2270 रुपये प्रति क्विंटल के निचले स्तर पर आ गया है. दिल्ली में भी गेहूं के दाम लगातार टूट रहे हैं. आज भी मिल डिलिवरी में भाव 50 रुपये टूटने के बाद 2430/2435 रुपये ही रहे। अभी ग्राहक कहीं नहीं रुक रहा है और बिकवाली का दबाव बना हुआ है, जिससे बाजार में 50/60 रुपये की और गिरावट आएगी।

खाद्य तेल रिपोर्ट 2023 ,जाने सरसों बिनोला सोया देसी घी राइस तेलों में तेजी मंदी

Free smart phone 2023 ; इन महिलाओ को मिलेगा 25 जुलाई से स्मार्टफोन करे यह कागज़ात तैयार

किसान साथियो व्यापार अपने विवेक से करे हमारा उदेश्य सिर्फ किसानो तक जानकारी पहुँचाना है

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी