WhatsApp Channel Join Now
Telegram Group Join Now
WhatsApp Group Join Now

बारिश से गेंहू की फसल पर पड़ा बड़ा असर जाने क्या गेंहू का रेट छुएगा आसमान

क्या गेंहू का रेट – नमस्कार किसान साथियो पिछले सप्ताह गेंहू की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है ऐसे में किसान साथियो गेंहू के भाव में भी हल्की तेजी दर्ज हुई थी | जानिए आज की ताजा गेंहू की रिपोर्ट ( क्या गेंहू का रेट )

क्या गेंहू का रेट
क्या गेंहू का रेट

आटा मिल संघों ने कुछ हफ्ते पहले एक प्रेस कार्यक्रम में आटे की कीमत और उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर इसके असर को कम करने की उम्मीद जताते हुए कहा था कि इससे बढ़ते दामो से जूझ रही सरकार को थोड़ी राहत मिल सकती है । हालांकि प्रमुख गेहूं उत्पादक राज्यों में हाल में हुई बारिश ने उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।

बे मौसम बारिश से हुए नुकसान से उत्पादन प्रभावित

आंकड़े बताते हैं कि 11 मार्च से 30 मार्च के बीच बेमौसम बारिश ने मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में गेहूं की फसल को नुकसान पहुंचाया, जिससे बेहतर गुणवत्ता वाले गेहूं के दाम में करीब 50 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी हुई। जबकि घटिया किस्म के गेहूं का भाव न्यूनतम समर्थन मूल्य से नीचे है। क्रिसिल रेटिंग्स ने अपनी रिसर्च रिपोर्ट में कहा है कि मध्य प्रदेश और गुजरात में ओलावृष्टि से गेहूं के उत्पादन में 3-4 फीसदी की कमी आ सकती है. गेहूं, धान, जीरा, प्याज, टमाटर और आम की फसल को हुए नुकसान से इसकी कीमत पर असर पड़ेगा। ( क्या गेंहू का रेट )

गेहू भाव में आई बम्फर तेजी जानिए यह रहे आज के ताजा गेंहू के भाव

Castor seed rates – देशभर में अरंडी का ताजा भाव जानिए आज का मंडी भाव

500 रु में गैस सिलेन्डर लेने के लिए अभी करे यह जरूरी काम घोषणा के आदेश हुए जारी

महंगाई के आंकड़े बताते हैं कि फरवरी 2023 में (जिसके लिए ताजा आंकड़े उपलब्ध हैं) जहां गेहूं के थोक मूल्य सूचकांक में महंगाई जनवरी के 23.63 फीसदी से घटकर 18.54 फीसदी पर आ गई है. उपभोक्ता मूल्य सूचकांक पर आधारित मुद्रास्फीति (जिसमें आटा भी शामिल है) इस अवधि के दौरान जनवरी में 25.05 प्रतिशत से बढ़कर फरवरी में 25.37 प्रतिशत हो गई।

थोक बाजार गेंहू के रेट में आई कमी – क्या गेंहू का रेट ?

इससे पता चलता है कि भले ही थोक बाजार में गेहूं की कीमत में कमी आई है, लेकिन उपभोक्ता स्तर पर कीमत में गिरावट अभी बाकी है। भारी बारिश और ओलावृष्टि से गेहूं की गुणवत्ता खराब हो गई है, जिससे बाजार में भाव कम मिल रहे हैं। केंद्र सरकार ने करीब 50 लाख टन गेहूं बेचने का फैसला किया है, इससे भी गेहूं की कीमत पर असर पड़ा है. अब तक मिलर्स और व्यापारियों ने 50 लाख टन में से लगभग 38 लाख टन गेहूं की खरीद की है।

फ्री स्कूटी योजना – 30 हजार लड़कियों को मिलेगी फ्री में स्कूटी ऐसे उठाए लाभ

मंडी भाव आज का – जानिए सभी मंडियो के ताजा और स्टिक भाव फटाफट

कृषि इनपुट सब्सिडी योजना – खुशखबरी किसानो को रोटावेटर पर दि जा रही है 50400 की सब्सिडी ऐसे करे आवेदन

Sarso mandi bhav – क्या सरसों भरेगी हुंकार जाने स्पैशल सरसों तेज़ी मंदी रिपोर्ट 2023

error: मित्र मेहनंत लगती है लिखने में , dmca लेना है तो कर लो कॉपी